You are here

मुस्लिम गायक के भजन से नहीं आईं ‘देवी’ तो सवर्णों ने कर दी हत्या, 200 मुस्लिमों को छोड़ना पड़ा गांव

नई दिल्ली/जयपुर, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

रामराज के नाम पर सत्ता में आने वाले बीजेपी शासित राज्यों में दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यकों के साथ अपराध के मामलों में इजाफा होता जा रहा है। गौर करने की बात ये है कि ज्यादातर अपराध कट्टर धार्मिक भावनाओं की उपज होते हैं।

पूरे देश के बीजेपी शासित रामराज्यों में तेजी से फैल रहे गौगुंडों के आतंक के बीच राजस्थान के जैसलमेर से धार्मिक कट्टरता से निकले अपराध की एक और शर्मनाक खबर आ रही है।

राजस्थान के जैसलमेर में हिंदुओं की धमकी के चलते मुस्लिम परिवारों को गांव छोड़कर जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। यहां तकरीबन 200 मुस्लिमों को सवर्ण हिन्दुओं की धमकी की वजह से जबरन गांव छोड़कर जाना पड़ा है।

वसुंधरा राज में सवर्ण हिन्दुओं की गुंडई देखिए पहले एक मुस्लिम लोकगायक की हत्या की गई, उसके बाद मुस्लिम परिवारों को गांव छोड़ने की धमकी दी गई। अब खबर ये है कि जैसलमेर के दांतल गांव में रहने वाले 200 मुसलमान परिवारों को पुलिस सुरक्षा में रहना पड़ रहा है।

भजन गाने से देवी ना आने के आरोप- 

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक 27 सितंबर को गांव में धार्मिक कार्यक्रम के दौरान आमद खान नाम का लोक गायक भजन गा रहा था। इसी वक्त रमेश सुधार नाम के व्यक्ति ने भजन गाने की मांग की ताकि उसके ऊपर देवी आ सके, लेकिन जब भजन गाने के बाद भी देवी नहीं आई तो उसने आरोप लगाया कि आमद खान ने जानबूझकर भजन धीमा गाया जिसकी वजह से उसके अंदर देवी नहीं आई।

अगवा कर की हत्या- 

इसके बाद रमेश ने खान का वाद्य यंत्र तोड़ दिया और उसके साथ मारपीट करने लगा। बात यहां से खत्म हो गई और दोनों अपने घर चले गए। आरोप है कि रमेश रात में अपने दो साथियों के साथ खान को उसके घर से उठा ले गया, इसके बाद खान का शव गांव के बाहर बरामद हुआ है।

इस घटना के बाद रमेश सुधार नाम के व्यक्ति ने आमद खान के परिवार को धमकी भी दी की इस मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई तो एक भी मुस्लिम को गांव में नहीं रहने देंगे।

200 मुस्लिमों ने गांव छोड़ा- 

अब खबर ये है कि धमकी की वजह से खान के परिवार वालों ने चुपचाप खान के शव को दफना दिया। इसके बाद खान के रिश्तेदारों ने हिम्मत करके खान की हत्या का मामला दर्ज कराया तो सवर्ण हिन्दुओं ने इन लोगों से गांव छोड़कर जाने की धमकी दी।

खान के भाई सुगे खान का कहना है कि हमे धमकी दी गई है कि गांव छोड़कर चले जाओ नहीं तो जान से मार देंगे। जिसके बाद 20 परिवार के 200 लोगों ने गांव का छोड़ दिया और पास के गांव बलाड़ में शरण ली है।

जैसलमेर के एसपी गौरव यादव का कहना है कि वह इन परिवारों को मना रहे हैं ताकि वह अपने गांव लौट जाए। आरोपी रमेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और खान के शव को कब्र से निकालकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

‘उद्योग सम्राट’ शाह पुत्र के नाम अशोक पटेल का खुला खत, हमें भी तो दो जल्दी पैसा कमाने का गुरुमंत्र

भाजपाईयों ने तोड़ा पूर्व CM अखिलेश के नाम का शिलापट्ट, सपाई बोले BJP के विकास का यही तरीका है

यशवंत सिन्हा का शाह पर वार, पहली बार निजी आदमी का केस देश का अतिरिक्त महान्यायवादी लड़ रहा है

29 को दिल्ली में होगा राष्ट्रनिर्माता सरदार पटेल जयंती समारोह, देश भर से जुटेंगे बुद्धिजीवी

शिवराज का रामराज: छतरपुर में दलित छात्राओं से साफ कराते हैं टॉयलेट, MIDDAY MEAL में फेंककर देते हैं रोटी

बिहार: CM नीतीश की सामाजिक मुहिम का असर, जेल पहुंच रहे हैं नाबालिग लड़कियों से शादी कर रहे दूल्हे

 

Related posts

Share
Share