You are here

जन्मजात श्रेष्ठों को पीछे छोड़ पिछड़े वर्ग की नंदिनी के आर बनीं यूपीएससी टॉपर

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

अब बहुजन बेटियों के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षाओं को टॉप करना दूर की कौड़ी नहीं रही. यह एक बार फिर से साबित कर दिखाया है कर्नाटक स्थित कोलार गोल्ड फील्ड की नंदिनी के आर ने. साल 2016 के लिए बुधवार (31 मई ) को घोषित किए गए परिणाम में नंदिनी जन्मजात श्रेष्ठों और मेरिटवादियों को पछाड़कर टॉप कर गई हैं।

 




इसे भी पढ़ें-कोर्ट परिसर में मनु की मूर्ति का प्रभाव जस्टिस शर्मा बोले मोरनी आंसू पीकर गर्भवती होती है

पिछड़े वर्ग से आती हैं नंदिनी-

अन्य पिछड़ा वर्ग से आने वाली नंदिनी ने 16 साल बाद फिर से कर्नाटक का सिर ऊंचा किया है. 16 साल पहले इसी राज्य की विजयलाक्षी बिडारी ने सिविल सर्विसेज के एग्जाम में टॉप किया था.

ये भी पढ़ें- जानिए अलग देश की मांग द्रविड़नाडू ब्राह्मणवाद और पेरियार से क्या है कनेक्शन

बचपन में ही ठाना था बनना है आईएएस-

नंदिनी का बचपन कोलार गोल्ड फील्ड में ही बीता। उनका जन्म भी यहीं हुआ। नंदिनी ने सेंट जोसेफ कॉन्वेन्ट गर्ल्स हाई स्कूल से किया। स्कूली दौर में ही नंदिनी ने IAS अधिकारी बनने की ठान ली थी। उनके लिए यह आसान नहीं था कि वो पढ़ाई पूरी करने के बाद प्राइवेट नौकरी करें या फिर IAS की तैयारी करें। इस दौरान उन्होंने कर्नाटक के लोक निर्माण विभाग (PWD) में बतौर इंजीनियर काम किया। बता दें कि नंदिनी ने सिविल इंजनियरिंग में प्रतिष्ठित एमएस रमैय्या इंजनियरिंग कॉलेज बेंगलुरू से बी.टेक किया है।


2015 में भी क्लियर किया था UPSC

नंदिनी ने साल 2015 में दिए UPSC एग्जाम को भी क्लियर किया था. हालांकि उनकी रैंक अच्छी नहीं थी उन्हें भारतीय वाणिज्य सेवा (IRS) में ज्वाइनिंग मिली. उन्होंने बिना IAS की तैयारी से समझौता करते हुए IRS ज्वाइन किया।

क्‍या कहना है नंदिनी का
अपनी सफलता से उत्साहित नंदिनी ने कहा, ‘यह एक सपने के सच होने जैसा है। वह हमेशा से ही आईएएस अधिकारी बनना चाहती थीं।’ ओबीसी वर्ग की नंदिनी ने वैकल्पिक विषय के तौर पर कन्नड़ साहित्य का पेपर दिया था। उन्होंने बंगलूरू स्थित एमएस रमैया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से सिविल इंजीनियरिंग में बीई की डिग्री हासिल की है। उनका यह चौथा प्रयास था।

आईएएस के लिए 180, आईएफएस के लिए 45 और आईपीएस के लिए 150 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है.इनके अलावा केंद्रीय सेवाओं में ग्रुप-ए के लिए 603 और ग्रुप-बी के लिए 231 का चयन हुआ है.

इसे भी पढ़ें- भारत की बेटी मुस्कान अब्दुल्ला पठान बनी आईसीएसई बोर्ड की टॉपर

ये हैं टॉप 10…

1. नंदिनी के आर
2. अनमोल शेर सिंह बेदी
3. गोपालकृष्ण रोनांकी
4. सौम्या पांडेय
5. अभिलाष मिश्रा
6. कोठामासू दिनेश कुमार
7. आनंद वर्धन
8. श्वेता चौहान
9. सुमन सौरव मोहंती
10. बिलाल मोहीउद्दीन भट

ये भी पढ़ें- अोबीसी छात्रों ने आईआईटी परीक्षा में दी मेरिटधारियों को पटखनी, 15 फीसदी आगे




Related posts

Share
Share