You are here

नेशनल जनमत के संपादक की शिकायत पर मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह का एक्शन, अनिल मिश्रा समेत 3 सस्पेंड

नई दिल्ली/लखनऊ। नेशनल जनमत ब्यूरो

कर्मठता और ईमानदारी से काम करने वाले अनुशासन प्रिय परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह के निर्देश पर नेशनल जनमत के संपादक और अन्य सहयात्रियों से बदसलूकी करने के आरोपी तीन रोडवेज कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

निलंबित होने वालों में परिचालक अनिल मिश्रा, चालक संजय चौहान और चालक अनूप सक्सैना शामिल हैं. एआरएम इटावा वीके लोहानी ने  तीनों कर्मियों को निलंबित करके विभागीय जांच के आदेश दिए हैं.

इसे भी पढ़िए-मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ किसान आंदोलन में शिरकत करेंगे नीतीश कुमार

संपादक और सवारियों से बदसलूकी का था आरोप- 

घटनाक्रम के अनुसार ‘नेशनल जनमत’ (www.nationaljanmat.com) के संपादक नीरज भाई पटेल 19 जून को अपने  गृह जनपद जालौन के उरई से कानपुर के लिए बस संख्या  UP93-T- 2166 जो कि झाँसी डिपो की बस में बैठे. बस में कई अन्य यात्री भी थे. अचानक से बस कानपुर से 40 किमी. पहले माती टोल प्लाजा पर खराब हो गई. थोड़ी देर इंतजार करने के बाद वहाँ इटावा डिपो की बस जिसका नंबर UP75-AT -1995 आई.

खराब हुई बस के कंडक्टर मनीष ने अनिल मिश्रा से अनुरोध किया की हमारी बस की कुछ सवारियों को कानपुर तक ले जाओ लेकिन उक्त बस के कंडक्टर ने साफ मना कर दिया। इसके बाद अन्य यात्रियों और नीरज भाई पटेल ने भी अनुरोध किया की मैं मान्यता प्राप्त पत्रकार हूं, मुझे समय से दिल्ली पहुंचना जरूरी है मुझे कानपुर तक ले चलो. मेरी सीट कानपुर से दूसरी बस  में आरक्षित है. नीरज के साथ ही अन्य यात्रियों ने भी कहा कि हमें लखनऊ जल्दी पहुंचना है कुछ सवारियों को तो कानपुर तक ले चलो.

इसे भी पढ़ें- आरक्षण के जनक शाहूजी महाराज यूं ही नहीं बन गए बहुजन प्रतिपालक, पढ़िए उनका जीवन संघर्ष

इटावा एआरएम की बात भी नहीं सुनी परिचालक ने- 

सभी की बात सुनकर परिचालक अनिल मिश्रा बोला कर लो जिससे शिकायत करनी है,  नही ले जाऊंगा तो नही ले जाऊंगा। उस स्थान पर तकरीबन 30 मिनट तक ये प्रकरण चलता रहा।  इस दौरान नीरज भाई पटेल ने  ARM झाँसी और ARM इटावा वीके लोहानी से सम्पर्क किया।

शराब के नशे मे धुत कंडक्टर ने दोनों से बात करने से साफ मना कर दिया। लोहानी जी ने जब ड्राइवर से बात की तो उसने कहा जगह नहीं है जबकी गाड़ी मे पर्याप्त जगह थी। फ़िर दोबारा लोहानी जी से बात की गई तो बोले कंडक्टर से बोलिये मैने बोला है, बस के गेट खोले.

यही बात कंडक्टर को बोली  गई तो बोला उखाड़ ले जो उखाड़ना है GATE नही खुलेगा इसके बाद गाली देता हुआ. वहाँ से बस भगा ले गया।

इसे भी पढ़ें- कर्ज के बोढ तले गबे किसानों को खेती की नई राह दिखाते बुंदेलखंड के किसान मान सिंह पटेल

परिवहन मंत्री ने तुरंत एक्शन लेकर कार्रवाई के आदेश दिए-

पूरे प्रकऱण की शिकायत नीरज भाई पटेल ने परिवहन मंत्री के निजी सचिव नरेन्द्र सिंह जी को व्हाट्सअप द्वारा लिखित रूप में दर्ज कराई. इसके बाद परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने  इसे यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ मानते हुए अनुशासनहीनता के तहत आरएम इटावा एके झां को दोषियों पर तत्काल कार्रवाई के आदेश दिए. परिवहन मंत्री बनते ही स्वतंत्रदेव सिंह का संदेश साफ है यात्रियों के साथ बदसुलूकी और ड्यूटी के समय शराब का सेवन किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

आरएम के निर्देश पर एआरएम इटावा वीके लोहानी ने कार्रवाई करते हुए परिचालक अनिल मिश्रा, चालक संजय चौहान और अनूप सक्सैना को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं.

इसे भी पढ़ें- राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद के प्रस्तावक में यूपी का जलवा विधायक करन सिंह पटेल शामिल

Related posts

Share
Share