You are here

नीतीश की चेतावनी दरकिनार कर शरद यादव, लालू की रैली में करेंगे शिरकत, JDU पर ठोकेंगे दावा !

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

मुख्यमंत्री व जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार की धमकी को धता बताते हुए राज्यसभा सांसद शरद यादव ने, आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की रैली में जाने का ऐलान कर दिया है। आरजेडी प्रमुख लालू यादव 27 अगस्त को पटना में बीजेपी भगाओ, देश बचाओ रैली कर रहे हैं।

नीतीश कुमार ने शरद यादव को अल्टीमेटम देते हुए कहा था कि अगर वह लालू यादव की रैली ज्वाइन करने पटना गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा, शरद यादव को राज्य सभा की सदस्यता से भी हाथ धोना पड़ सकता है।

वहीं नीतीश कुमार की इस चेतावनी का शरद यादव पर कोई फर्क नहीं पड़ा है। उन्होंने रैली में जाने का इरादा पक्का कर लिया है। इकॉनामिक्स टाइम्स की खबर के अनुसार, शरद ने लालू की रैली में जाने की हामी भरी है। शरद ने कहा कि महागठबंधन की ताकत दिखाने के लिए रैली में जाना जरूरी है।

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल डालेंगे याचिका- 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल चुनाव आयोग में एक याचिका दायर करने वाले हैं। यह याचिका जदयू के चुनाव चिन्ह के लिए होगी। शरद यादव दावा करेंगे कि जदयू को उन्होंने बनाया था। नीतीश की चेतावनी पर भी शरद ने अपने दिल की बात कही।

शरद ने कहा, लोग ये सोचते हैं कि वह धमकी या फिर मंत्री पद के लालच से चुप बैठेंगे वे गलत हैं। शरद ने कहा कि पूरे राजनीतिक करियर में उन्होंने इन सब चीजों के बारे में नहीं सोचा है।

इसके साथ ही शरद यादव ने कहा कि उन्होंने लालू प्रसाद यादव द्वारा भेजा गया रैली का निमंत्रण स्वीकार कर लिया है और विपक्ष एंटी-बीजेपी गठबंधन को नेशनल लेवल पर ले जाने के लिए काम कर रहा है।

इन दिनों शरद यादव नीतीश कुमार से बेहद खफा हैं। हाल ही में नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव की पार्टी छोड़ कर बीजेपी का दामन थाम लिया था। उसके बाद नीतीश कुमार बीजेपी के सहयोग से बिहार के मुख्यमंत्री बनाए गए हैं।

Related posts

Share
Share