You are here

नोएडा: भविष्य बताने के नाम पर करता था खालों की तस्करी, फर्जी ज्योतिषी कल्लीकृष्णन गिरफ्तार

नोएडा/नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

वन विभाग की टीम ने नोएडा के पॉश मार्केट सेक्टर-18 में एक ज्योतिषाचार्य के ऑफिस पर छापेमारी की। इसमें प्रतिबंधित जीव-जंतुओं से बनी सामग्री बरामद की गई है। जिनका उपयोग काला जादू, इंद्रजाल व अन्य तंत्र मंत्र विद्या में किया जाता है।

वन विभाग के अधिकारियों का दावा है कि ज्योतिषाचार्य के ऑफिस में मिले दस्तावेज व कम्प्यूटरों में दर्ज ब्यौरे से अन्तर्राष्ट्रीय वन्य जीव तस्करी करने वाले रैकेट से ज्योतिषाचार्य के तार जुड़ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-जस्टिसस कर्णन ने चुकाई भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने की सजा, 6 महीने काटेंगे जेल में

मेरठ के कर्नल से तार जुड़े होने की आशंका-

पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि पिछले दिनों मेरठ में वन्य जीवों की तस्करी व अवैध पिस्टलों की तस्करी के आरोप में पकड़े गए पूर्व कर्नल व उसके बेटे के रैकेट से भी तार जुड़े हो सकते हैं। इसकी छानबीन की जायेगी। छापेमारी के दौरान वन विभाग की टीम ने ज्योषिताचार्य को भी पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

क्या है पूरा मामला- 

आज शाम साढ़े 7 बजे के आसपास अट्टा पीर के पास सेक्टर-18 में वन विभाग की टीम ने थाना सेक्टर-20 पुलिस की मदद से अंसल फारच्यून आर्केड बिल्डिंग में स्थित एस्ट्रो देवम नाम के ज्योतिषाचार्य के ऑफिस पर छापेमारी की। इसके मालिक ज्योतिषाचार्य कल्लीकृष्णन हैं। वन विभाग की टीम ने बेसमेंट व प्रथम तल स्थित ऑफिस पर छापेमारी कर वहां से प्रतिबंधित समुद्री जीव व अन्य जीव-जंतुओं से बनी वस्तुओं व अन्य सामग्री को जब्त किया, जिसका प्रयोग काला जादू, इंद्राजाल व तंत्र मंत्र में किया जाता है।

इसे भी पढ़ें- जस्टिस कर्णन की गिरफ्तारी के बाद छिड़ी बहस, देश क्या आज भी मनु की मनुस्मृति के चल रहा है

अन्तर्राष्ट्रीय रैकेट से तार जुड़े होने की आशंका- 

वन विभाग ने ऑफिस में मौजूद कर्मचारी व ज्योतिषाचार्य को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। इसके बाद दोनों ऑफिस की गहनता से छानबीन की। ऑफिस में मिली डायरी, आठ कम्यूटरों के डाटा चेक किए, जिसमें देश व विदेश से डील किए जाने वाले लोगों के नंबर मिले हैं। छापेमारी के दौरान मौजूद डीएफओ एचबी गिरीश ने बताया कि सूचना के आधार पर कार्रवाई की गई है।

आशंका है कि जांच के बाद एक बड़े अन्तर्राष्ट्रीय रैकेट का खुलासा होगा। वहीं छापेमारी के बाद पता चला कि ज्योतिषाचार्य लोगों को वास्तु ज्ञान, जन्मकुंडली, रत्न, रूद्राक्ष व तंत्र-मंत्र के लिए प्रतिबंधित साम्रगी भी देते थे।

इसे भी पढ़ें- मोदीजी के स्वच्छ भारत अभियान को खुली चुनौती, ठाकुर लेते बैं दलितों से खेत में शौच करने का टैक्स

Related posts

Share
Share