You are here

नोएडा से अगवा कर लड़की से चलती कार में सामूहिक बलात्कार, दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास फेंका

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

देश की राजधानी दिल्ली और नोएडा के बीच एक वीभत्स घटना सामने आई है। जहां पर दरिंदों ने चलती कार में 24 वर्षीय लड़की से सामूहिक बलात्कार किया। ये दर्दनाक घटना शुक्रवार रात की है।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वह नोएडा गोल्फ कोर्स मेट्रो स्टेशन के पास करीब साढ़े 6 बजे ऑटो रिक्शा का इंतजार कर रही थी। तभी दो लोग स्कॉर्पियो कार से आकर उसके पास रुके, उन्होंने लड़की से सेक्टर 18 और 19 जाने का रास्ता पूछा। जिसके बाद उन बदमाशों ने लड़की को जबरदस्ती उठाकर कार में डाल लिया।

एसपी सिटी अरुण कुमार सिंह के मुताबिक, इस दौरान लड़की को दरिंदे नोएडा और दिल्ली के कई इलाकों में ले गए। लड़की से पूरे रास्ते गैंगरेप करने के बाद उसे अक्षरधाम मंदिर के पास फेंक दिया। रात में करीब दो बजे के आसपास लड़की ने पुलिस कंट्रोल रूम में फोन किया।

नजदीकी पुलिस स्टेशन मंडावली पुलिस टीम घटना स्थल पर पहुंची और पीड़िता को 39 सेक्टर थाने लेकर गई। जहां लड़की की शिकायत पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस लड़की के बयान के आधार पर आरोपियों की तलाश में जुट गई है। अब तक म‌िली जानकारी के अनुसार युवती नोएडा सेक्टर 36 की रहने वाली है और बीपीओ में काम करती है।

सिटी एसपी के मुताबिक, पुल‌िस पीड़िता का मेड‌िकल कराना चाहती थी और मोबाइल चेक करना चाहती थी लेक‌िन लड़की ने राइट टू प्राइवेसी का हवाला देते हुए इससे इनकार कर द‌िया।

पुलिस इस मामले में कार्रवाई करते हुए घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है. पुलिस के मुताबिक गैंगरेप के आरोपियों की पहचान कर उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

भगवाराज: गरबा में आने वालों को गौमूत्र से शुद्धिकरण और लाल तिलक लगाए बिना नहीं मिली एंट्री

सपा सम्मेलन में नरेश उत्तम पटेल दोबारा चुने गए प्रदेश अध्यक्ष, पहली बार 5 साल होगा कार्यकाल

JNU-DU के बाद हैदराबाद वि.वि. में छात्रों ने भगवा सोच को नकारा, जीत रोहित वेमुला को समर्पित

नोटबंदी एक संगठित लूट है, जिसकी वजह से देश की आर्थिक विकास दर गिरी है- पूर्व PM मनमोहन सिंह

भारतीय परम्पराओं में ही भ्रष्टाचार शामिल है, काम कराने की नियत से लोग भगवान को भी घूस देते हैं

जातिवादी स्वरूपानंद और वासुदेवानंद सरस्वती को शंकराचार्य मानने से हाईकोर्ट का इंतजार

सभ्य समाज का स्याह चेहरा, गाजियाबाद में सीवर सफाई कर रहे 3 मजदूरों की दम घुटने से दर्दनाक मौत

 

 

 

Related posts

Share
Share