You are here

अपने शाही शपथग्रहण में अखिलेश से दोगुना खर्च कर दिया सादगी पसंद सीएम योगी ने

लखनऊ। नेशनल जनमत ब्यूरो।

सीएम योगी आदित्यनाथ की सादगी के चर्चे तो आपने खूब सुने होंगे. सारे न्यूज चैनल इस पर आधे-आधे घंटे के शो बनाते रहे. अब खुलासा हुआ है कि योदी आदित्यनाथ के शाही शपथ ग्रहण समारोह में अखिलेश सरकार के शपथ ग्रहण से भी दोगुना खर्च कर दिया गया.

तकरीबन दो करोड़ खर्च कर दिए शपथ ग्रहण में- 

पिछले दिनों एलडीए की तरफ से शपथ ग्रहण पर खर्च हुई राशि की प्रतिपूर्ति के लिए शासन को पत्र भेजा गया. बताया गया कि योगी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में 1 करोड़ 81 लाख 37 हजार 240 रुपए खर्च हुए. ये कार्यक्रम लखनऊ के आशियाना स्थित स्मृति उपवन पार्क में आयोजित किया गया. तत्कालीन एलडीए उपाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार सिंह की निगरानी में पूरा कम हुआ.

इसे भी पढ़ें-शहरी एशोआराम छोड़कर गांव में मुखिया बन गई आईएएस की पत्नी ऋतु जायसवाल

बदनामी से बचने के लिए एलडीए से मांगा खर्च का ब्योरा- 

योगी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शाही खर्च को लेकर लखनऊ विकास प्राधिकरण से उत्तर प्रदेश शासन ने शपथ ग्रहण समारोह में हुए खर्च का पूरा ब्यौरा मांगा है.

दरअसल शासन ने पाया कि पांच साल पहले अखिलेश सरकार के शपथ ग्रहण में हुए खर्च से इस बार योगी सरकार के शपथ ग्रहण का खर्च में करीब दोगुने का अंतर है. मामले में एलडीए के अफसरों को दोनों ही शपथ ग्रहण समारोहों के खर्च का तुलनात्मक चार्ट भी पेश करने को कहा गया है.

इसे भी पढ़ें- उच्च शिक्षा में ओबीसी को रोकने की साजिश, यूजीसी ने पीएचडी के लिए नेट अनिवार्य किया

राशि पर शासन ने गौर किया और पूर्व की अखिलेश सरकार के शपथ ग्रहण में आए खर्च पर नजर डाली तो पता चला कि इस बार करीब दोगुना ज्यादा खर्च आया. इसके बाद 23 मई को सचिवालय प्रशासन की तरफ से संबंधित विभाग ने एलडीए उपाध्यक्ष को एक पत्र भेजकर हद से ज्यादा खर्च पर कड़ा ऐतराज जताया और साथ ही अफसरों से खर्च का पूरा विवरण तलब कर लिया.

अखिलेश के शपथ ग्रहण में 90 लाख हुए थे खर्च  –

शासन का मानना है कि 15 मार्च 2012 को अखिलेश सरकार के शपथ ग्रहण की व्यवस्था भी एलडीए ने ही की थी. उस समय कुल खर्च 90 लाख 33 हजार 154 रुपए का आया. पांच साल में इतना क्या महंगा हो गया कि इसी आयोजन में करीब दोगुने से ज्यादा का खर्च आ गया. मामले में 2012 और 2017 में हुए शपथ ग्रहण समारोह के खर्च का तुलनात्मक चार्ट भी तलब किया है.

इसे भी पढ़ें- सीएम योगी और डीप्टी सीएम शर्मा के जाति वालो को बांटे जा रहे हैं मलाईदार पद, मौर्या किनारे

Related posts

Share
Share