You are here

पटेल-दलित वोट खिसकने की आहट से डरी बीजेपी, OBC सम्मेलनों में फिर से बोलेगी ‘PM मोदी OBC हैं’

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

गुजरात में पाटीदार और दलित आंदोलन से सहमी बीजेपी राज्य में नई चुनावी रणनीति बनाने में जुट गई है। गुजरात में हार्दिक पटेल के नेतृत्व में पाटीदार समुदाय के आंदोलन ने बीजेपी की जड़ें हिला दीं थीं। इसके बाद रही सही कसर ऊना कांड के बाद दलितों ने पूरी कर दी।

पाटीदार आरक्षण और ऊना कांड के बाद उपजे दलितों के गुस्से को देखते हुए बीजेपी गुजरात में नये-नये जातिगत समीकरण बैठाने की जुगत में लग गई है। बौद्ध धम्म यात्रा के सहारे गुजरात में दलितों को लुभाने के बाद अब बीजेपी ने सारा ध्यान ओबीसी समुदाय पर केंद्रित कर दिया है।

इसी क्रम में पार्टी 18 सितंबर को खेड़ा जिले के फगवेल में ओबीसी सम्मेलन का आयोजन कर रही है जिसमें जिसमें बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के अलावा कई नेता शामिल होंगे।

पिछले काफी समय से गुजरात में भारतीय जनता पार्टी हार्दिक पटेल के नेतृत्व वाले पाटीदार आंदोलन के कारण असहज है। बीजेपी को वोट देने वाले इस वर्ग में भाजपा के खिलाफ खासी नाराजगी देखने को मिल रही है।

यात्राओं की भी तैयारी- 

बीजेपी गुजरात में पिछड़ा वर्ग के वोटरों तक पहुंचने के लिए दो यात्राओं की योजना की रूपरेखा बना रही है। इसमें पहली यात्रा एक अक्टूबर को सरदार पटेल के जन्मस्थान करसमद से शुरू होगी, जबकि दूसरी यात्रा 2 अक्तूबर को महात्मा गांधी की जन्मभूमि पोरबंदर से शुरू होगी।

भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने के लिए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने संकल्प यात्रा निकाली है. पार्टी नेताओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ओबीसी समाज से आते हैं, ऐसे में पार्टी मोदी के जरिए ओबीसी समाज के बीच जगह बनाने और ओबीसी मतदाताओं के बीच बेहतर तालमेल बैठाने की पहल कर रही है।

कडवा पटेल समुदाय से आने वाले राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल एक रैली का नेतृत्व करेंगे और दूसरे का नेतृत्व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघानी करेंगे जो लेऊवा पटेल समुदाय से आते हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी दोनों यात्राओं में शिरकत करेंगे।

BSP के कद्दावर नेता रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी करेंगे अखिलेश यादव संग साइकिल की सवारी

आप लिपटे रहिए धर्म की चासनी में, यहां देश में पहली बार जाति के नाम पर बन गया ‘ब्राह्मण आयोग’

साझी विरासत’ सम्मेलन में बोला विपक्ष, BJP सरकार की तानाशाही से जनता को निजात दिलाकर रहेंगे

राजस्थान के रामराज में स्कूल भी सुरक्षित नहीं, 6 साल की बच्ची के साथ केंद्रीय विद्यालय में रेप !

BJP सांसद बोले महाराष्ट्र की BJP सरकार के तीन सालों में किसानों की आत्महत्याएं बढ़ी हैं

संयुक्त राष्ट्र संघ ने गाय के नाम पर हिंसा और पत्रकारों की हत्या पर पीएम मोदी की आलोचना की

 

Related posts

Share
Share