You are here

सपा प्रवक्ता मैडम पाठक के नाम समाजवादी विचारधारा की BHU छात्रा नेहा यादव का खुला खत

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक को लेकर समाजवादी धड़े में उठापठक चलती रहती है कोई उन्हें बीजेपी का एजेंट बताता है तो कोई ब्राह्मणों की जासूस। खैर इस बार हंगामा पंखुड़ी पाठक का रायबरेली कांड में मारे गए ब्राह्मण बदमाशों के समर्थन में खुलकर आने को लेकर है। पंखुड़ी पाठक ने ब्राह्मण समाज के लोगों को बुलाकर इस मामले में धरना भी दिया था।

पढ़िए समाजवादी विचारधारा की बीएचयू की शोधछात्रा नेहा यादव जो नेहा बीएचयू के नाम से जानी जाती हैं उनका खुला खत-

से भी पढ़ें-पीएम मोदी के आंसुओं को तोगड़िया की खुली चुनौती, गौरक्षकों को किसी से डरने की जरूरत नहीं

मैडम पंखुरी पाठक जी,
प्रवक्ता समाजवादी पार्टी
उत्तर प्रदेश

मैडम,
पहली बार आप लखनऊ में जब सुर्खियों में आई , प्रवक्ता बनने से पूर्व (सजातीय चैनल के साथ साथ साठ- गांठ करके एक पूर्वनियोजित रणनीति के तहत ) तभी से आप के व्यवहार, वैचारिक दर्शन और सैद्धांतिक प्रतिबद्धता को मुझ जैसे खाटी समाजवादी व्यवहार वाले लोग , उन कसौटियों पर कसना शुरू कर दिए , जिसका दिखावटी चोला आपने ओढ़ रखा है ।

इतनी छोटी सी उम्र में , किसी स्थापित / सत्तासीन पार्टी की प्रवक्ता बनना कोई ऐसी वैसी उपलब्धि तो नही है , बस यही से आप के क्रिया कलाप, व्यवहार हम जैसे व्यवहारिक कार्यकर्ताओ के लिए अनुकरणीय बन गए .सच कहूं तो समाजवादी पार्टी में युवा कार्यकर्ताओ की एक फौज ही नही बल्कि नेतृत्वकर्ताओ का एक समूह भी आप की अदा व प्रतिभा की मुरीद है, शायद यही आप की व्यवहारिक पूंजी है।

इसे भी पढ़िए-पाठक के जातिवाद और एक बीजेपी नेता के भ्रष्टाचार के गठजोड़ से बनी सरकारी वकीलों की लिस्ट पर रोक

चुनाव के दौरान आप के डिबेट्स और भूमिका पर्दे पर समाजवादी पार्टी के पक्ष में ही रही, उस वक्त समाजवादी पार्टी का एक एक कार्यकर्ता आप को पार्टी का ईमानदार मीडिया प्रतिनिधि समझता था। लेकिन मैडम जब बीजेपी के आपके सजातीय प्रवक्ता ने आप के चरित्र पर उंगली उठाकर एक नए विवाद को जन्म दिया तो भी हर कार्यकर्ता आप के साथ खड़ा था , लेकिन कार्यकर्ता कितना मासूम होता है , ये आप जैसे मौका परस्त लोग बड़ी बखूबी से समझते हैं. बस मैडम इतना बात दीजिये की —

*आप को हाइलाइट करने के लिए सजातीय लोग ही क्यों विवाद खड़ा करते है ??

* आप पार्टी की प्रवक्ता समाजवादी नीतियों के प्रचार- प्रसार के लिए बनी है या ब्राह्मणवादी भाईचारे के विस्तार के लिए

* कही आप समाजवादी मूल्यों की हत्या के लिए , ब्राह्मणवादी गिरोह की एजेंट के तौर पर स्थापित होने की कोशिश तो नही कर रही है ??

* आरक्षण / सामाजिक न्याय जैसे मुद्दों पर कभी आपको मुखर होते नही देखी हूँ, लेकिन रायबरेली के ब्राह्मण गुंडो के समर्थन में प्रदर्शन में भाग लेते जरूर देखा है।

इसे भी पढ़ें- जातिवादी असभ्य समाज का घिनौना सच, सीवर सफाई के दौरान एक साल में हुई 22327 लोगों की मौत

* आप इस प्रदर्शन में क्या पार्टी की सहमति से आई थी या आप का जनेऊ प्रेम था ??

* आपका जनेउप्रेम, पार्टी के स्वाभाविक जनाधार की चेतना, पार्टी की बुनियादी नीतियों पर कब तक तवज्जो पातां रहेगा ??

* आपके व्यवहारिक प्रतिबद्धता जनेउवाद है या समाजवाद ??

* क्या #यादवसेना के साथ आपका विवाद आप की ब्राह्मणवादी नीतियों के कारण नही था ??

* आपने कई महिलाओ को बढ़ने नही दिया कइयों की फेसबुक आई डी बन्द कराई

*आपने नेहा बीएचयू की आई डी को बन्द कराया आखिर क्यों कही आपसे बढ़ा कोई समाजवादी न बन जाए?

* आप पार्टी के बेस कैडर वोटबैंक की भावना के खिलाफ ही अक्सर व्यवहारिक प्रतिबद्धता क्यों दर्शाती है ??

खैर, सवाल तो बहुत है मैडम, और हम जैसे समाजवादी सिपाही इस बात को बखूबी से समझते है कि आप क्या है , कैसे है और क्यों है ??
व्यवहारिक समाजवादी सैफई परिवार की उन कमजोर कड़ियों को जानता है , जहा से समाजवाद की ठेकेदारी होती है और आप जैसे लोग समाजवाद के प्रहरी बनते हैं।

इसे भी पढ़ें-झालर विरोध की नौटंकी के बीच, मोदी राज में चाइना का भारत में निवेश तीन गुना बढ़ गया

लेकिन मैडम पाठक ,

आप इस गलत फहमी में मत रहिएगा, की जब तक सैफई परिवार की वो कड़ी आप की मुट्ठी में है आप समाजवाद की आड़ में ब्राह्मणवाद का पोषण करती रहेंगी। पार्टी और आप कार्यकर्ताओ के दम पर है और आप समाजवादी नीतियों के विरोध के कारण कार्यकर्ताओ के निशाने पर आ चुकी है ।।

खैर, आप बड़े लोग , राजनीति की बड़ी और मंझी हुई खिलाड़ी। हो सके तो एक तुच्छ कार्यकर्ता की बात समझने की कोशिश करिएगा , वर्ना सब जानते ही है आप के टैलेंट को जिसकी सैफई समाजवाद में इसकी भी एक अलग ही अहमियत है ।।

त्रुटियों की क्षमा याचना के साथ अग्रिम शुभकामनाये .. Neha BHU 

Related posts

Share
Share