You are here

पटेल प्रतिनिधि सभा का गांव से प्रतिभा खोजो अभियान, प्राइमरी पाठशाला में आयोजित हुआ सम्मान समारोह

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

मंचों पर बोला जाने वाला एक बहुत चर्चित शब्द है ‘पे बैक टू सोसाइटी’ यानि जिस सामाजिक परिवेश में आप पले बढ़े उसे समाज के हित में अपनी सामर्थ्य अनुसार कुछ कार्य करना। हालांकि बोल तो लोग आसानी से देते हैं लेकिन निभाते कुछ ही लोग हैं।

ऐसे ही एक कर्मवीर हैं पटेल ज्ञान सिंह। उत्तर प्रदेश पुलिस सेवा में डिप्टी एसपी के पद से सेवानिवृत्त हुए ज्ञान सिंह। पटेल प्रतिनिधि सभा के माध्यम से 2002 से सामाजिक साथियों के सहयोग से समाज के विभिन्न क्षेत्रों में सेवा की अलख जगाए हुए हैं।

रविवार को पटेल प्रतिनिधि सभा के सहयोगी संगठन “राष्ट्रीय प्रतिनिधि संघ” के बैनर तले लखनऊ से तकरीबन 30 किलोमीटर दूर स्थित प्राइमरी पाठशाला इस्माइल नगर में गांव से प्रतिभा खोज निकालने की मुहिम के तहत प्रतियोगिता कराकर पुरस्कार वितरित किए गए। इसके साथ ही गांव के विकास के लिए किसी भी तरह से सक्रिय ग्रामीणों को भी सम्मानित किया गया।

सुनिए सेवा प्रमुख पटेल ज्ञान सिंह क्या कहते हैं- 

कार्यक्रम पटेल प्रतिनिधि सभा के प्रदेश अध्यक्ष व लखनऊ मॉडल पब्लिक स्कूल के संस्थापक अवधेश सिंह की अध्यक्षता व दिवाकर सिंह कटियार न्यायाधीश लोक अदालत कानपुर के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ।

इस दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक जालौन बीपी पटेल, जिला विद्यालय निरीक्षक पीलीभीत राजेश वर्मा, रि. प्रमुख अभियंता महेन्द्र सिंह, सचिवालय में अंडर सेकेट्री भरत प्रसाद उत्तम, सेक्शन ऑफिसर सचिवालय हरी लाल सिंह ,भारतीय किसान यूनियन (भानु) के मंडल अध्यक्ष हरिनाम सिंह, जिलाध्यक्ष प्रताप सिंह, नगराम थाने के एसआई रामअवध यादव, नेशनल जनमत के संपादक नीरज भाई पटेल प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

कार्यक्रम का उद्देश्य- 

इस पुरस्कार वितरण समारोह का मुख्य उद्देश्य यह है कि समाज के अंतिम व्यक्ति जो कि सामाजिक और आर्थिक रूप से बहुत पिछड़े हैं को विकास की मुख्यधारा से कैसे जोड़ा जाए?

पटेल प्रतिनिधि सभा के महामंत्री डॉ. राजेश पटेल ने बताया कि इस्माइल नगर गांव गरीबी व पिछड़ापन से ग्रसित है, इसलिए इस तरह के गांवों से प्रतिभाओं को उभारने और बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए ये आयोजन किया गया।

उन्होंने बताया कि पटेल ज्ञान सिंह जी के अथक प्रयासों से सभा पूरे प्रदेश भर के विभिन्न गावों में इस प्रकार का आयोजन कराती रहती है। साथ ही इस तरह के कामों से हम गांव के बच्चों में ये सोच डालना चाहते हैं कि यदि हम सब लोगों के अंदर सामाजिकता प्रेरणा के रुप मे समाहित हो जाये तो सक्षम होकर हम भी समाज के लिए कुछ करेंगे।

जागरूक ग्रामीण भी हुए सम्मानित- 

दौड़ प्रतियोगिता के विजेताओं और कक्षा में उत्कृष्ट स्थान पाने वाले छात्र-छात्राओं को सम्मानित करने के साथ ही गांव की साफ-सफाई में विशेष ध्यान देने वाले रामगोपाल वर्मा, चंदन कुमार, रमेश कुमार, अरविंद वर्मा, असलम अली भी सम्मानित हुए।

इसके साथ ही गांव की विभिन्न सामाजिक गतिविधियों में सक्रिय काशीराम उर्फ भोला, सुमन वर्मा, उत्कृष्ट वर्मा को सम्मानित किया गया। इस दौरान राष्ट्रीय प्रतिनिधि संघ के संरक्षक रमेश कुमार, गोसाईंगंज शाखा के अध्यक्ष पवन कुमार, ग्राम प्रधान हुसैनाबाद सर्वेश कुमारी वर्मा, मीडिया प्रभारी लवकुश पटेल समेत ग्रामीण मौजूद रहे।

हार्दिक पटेल के आरोपों के बाद, सूरत के स्ट्रांग रूम में मिला WI-FI नेटवर्क, प्रशासन ने की कार्रवाई

नफ़रत से भरा हुआ उन्माद ही इस देश में अब सामान्य अवस्था है और भारत का ‘न्यू इंडिया’ है !

 

 

Related posts

Share
Share