You are here

UPSC: विकलांगों को भी नहीं छोड़ा, लिखित में आगे हैं OBC लेकिन इंटरव्यू में कम कर दिए मार्क्स

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा को देश की क्या विश्व की सबसे बड़ी परीक्षा माना जाता है. सामान्य घरों से लेकर अमीर घराने के लड़के भी आईएएस बनने का ख्वाब पाले इस परीक्षां में बैठते हैं. लेकिन हैरत होती है ये सोचकर कि इतनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी वाले पद पर बैठे व्यक्ति भी जातिवाद से ओतप्रोत होते हैं.

इसे भी पढ़ें- जानिए क्या यादव वाकई जातिवादी लोग हैं और सिर्फ यादवों को ही अपना नेता मानते हैं.

इतना तो स्पष्ट है कि इस देश में रहने वाला तकरीबन हर व्यक्ति एक खास जाति लेकर पैदा होता है. तो जो लोग चयन प्रक्रिया में शामिल होते हैं उनको कैसे जाति से विमुक्त माना जाए. अक्सर यूपीएससी से लेकर अन्य परीक्षाओं में ओबीसी और एससी कैटेगरी के छात्रो को इंटरव्यू में कम मार्क्स देने की बात सामने आती रहती है. लेकिन इस बार तो जातिवादियों ने हद ही पार कर दी विकलांग छात्रों को जाति के चश्मे से देखा गया.

इसे भी पढ़ें- जानिए नकल माफियाओ के गोरखधंधे पर कैसे पानी फेर दिया आईएएस आशुतोष निरंजन ने

ज्यादा नम्बर पाने के बाद भी ओबीसी विकलांग का सिलेक्शन नहीं–

संविधान द्वारा प्रदत्त आरक्षण के तहत यूपीएससी में एससी-एसटी-ओबीसी और विकलांग अभ्यर्थियों को आरक्षण दिया जाता है. नियमानुसार तीन प्रतिशत सीटें विकलांग अभ्यर्थियों के लिए आरक्षित हैं. इस बार 1099 कुल पद के अनुसार 33 सीटें विकलांग अभ्यर्थियों के लिए सुरक्षित थीं. लेकिन अंतिम चयन हुआ 44 अभ्यर्थियों का. खैर इसमें कोई दिक्कत की बात भी नहीं.

44 में से 35 सवर्णों का हो गया सिलेक्शन- 

असली खेल यहीं से शुरू हुआ विकलांगों का जो अंतिम चयन हुआ उसमें जमकर जाति का केल खेला गया. कुल 44 चयनित विकलांग अभ्यर्थियो में से 35 सवर्णों का चयन कर लिया गया लिखित परीक्षा में ज्यादा नंबर लाने के बाद भी सिर्फ 9 ओबीसी चयनित हो पाए. एससी-एसटी का कोई छात्र चयनित नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें- जाति से ऊपर नहीं उठ पाई देशभक्ति, गांव में शहीद रवि पाल की प्रतिमा नहीं लगने दे रहे सवर्ण

इस लिहाज से देखें तो विकलांग कोटे के तहत चयनित अभ्यर्थियों में से 80 प्रतिशत सीटें सामान्य वर्ग को दे दी गईं. इतना ही नहीं खेल यहां भी खेला गया. आप खुद देखिए ओबीसी छात्रो को लिखित में ज्यादा नंबर मिलनेे के बाद भी इंटरव्यू में उनको कम देकर रोकने की कोशिश की गई.

                                     ALL        General     OBC    SC      ST

कुल अभ्यर्थी चयनित         44.0       35.0        9.0           0        0
लिखित परीक्षा में नंबर      781.5      779.4      789.3      0        0
इंटरव्यू के नंबर                 163.5       164.7     159.1        0        0

टोटल                                945.0      944.1      948.4      0       0

इसे भी पढ़ें-कबड्डी खिलाड़ी धनवंती यादव को गांव के भूमिहारों ने दी रेप की धमकी

हैरान करने वाली बात है ये-

2011 की जनसंख्या के आंकड़ों के अनुसार भारत मे एससी की 18 प्रतिशत जनसंख्या और एसटी की 15 प्रतिशत जनसंख्या विकलांग है. जबकि पूरे देश का औसत 2.5 प्रतिशत है. ऐसे में विकलांग कैटेगरी मेें किसी भी एससी एसटी का चयन ना होना हैरान करने वाली बात है.

Related posts

Share
Share