You are here

गौ गुंडों की पिटाई से मारे गए पहलू खां के परिजनों को किसानों ने भेजे 15 लाख रुपये

मेवात (हरियाणा)। नेशनल जनमत ब्यूरो

गौ गुंडों द्वारा बेरहमी से पीटे जाने के बाद अस्पताल में दम तोड़ने वाले डेयरी किसान पहलू खां का मामला बहुत दिनों तक सुर्खियों में छाया रहा. लेकिन आरोपियों के बीजेपी के सहयोगी संगठनों से जुड़े होने के कारण सरकार ने इस परिवार के लोगों की सुध नहीं ली. आखिरकार देशभर के किसानों ने अपनी तरफ से ऑल इंडिया किसान सभा के माध्यम से 15 लाख की आर्थिक मदद उनके परिजनों तक पहुंचाई है.

हरियाणा के मेवात की नूह तहसील के रहने वाले मृतक पहलू खान डेयरी चलाते थे. वह भैंस खरीदने जयपुर के लिए निकले थे. लेकिन अधिक दूध के लालच में गाय खरीद ली. बस राजस्थान के अलवर के पास गौ गुंडों ने रोककर पीट पीटकर उनकी जान ले ली.

ऑल इंडिया किसान सभा ने पहुंचाई है सहायता-

सोशल एक्टीविस्ट मोहम्मद अनस बताते हैं कि 19 अप्रैल को साढ़े तीन लाख की मदद पहुंचाई गई थी. लेकिन किसी को नहीं बताया गया. अब पंद्रह लाख रूपए की मदद पहुंचाई गई. ऑल इंडिया किसान सभा की तरफ से जनरल सेक्रेटरी हन्नान मोल्लाह ने पहलू खाँ की मां तथा परिवार के लोगों को बीच यह मदद पहुंचाई है.

हर जाति धर्म के किसानों ने की है मदद-

देश भर के किसानों ने जिसमें सभी धर्मों के लोग शामिल हैं ने अपनी एक दिन की मेहनत इस परिवार को सौंप दीं. इससे पहले पहलू खाँ की बूढ़ी माँ को जयपुर विधानसभा के सामने तीन दिन तक धरना देना पड़ा.

क्या था पूरा मामला-

हरियाणा के मेवात की नूह तहसील के रहने वाले मृतक पहलू खान डेयरी चलाते थे. वह भैंस खरीदने जयपुर के लिए निकले थे. लेकिन अधिक दूध के लालच में गाय खरीद ली. उन्हें नहीं पता था कि उनका ये फैसला उनकी जान पर बन आएगा. हिन्दूवादी संगठनों ने उनको तस्कर समझकर बुरी तरह मारा-पीटा . इस घटना में हरियाणा के नूह के जयसिंहपुर निवासी 55 वर्षीय पहलू खान सहित 5 लोग गंभीर घायल होगए थे. 3 अप्रैल की रात को पहलू खान की इलाज के दौरान मौत हो गई.

Related posts

Share
Share