You are here

PM मोदी के ‘ना खाऊंगा ना खाने दूंगा’ को केशव मौर्य की चुनौती, बोले खाओ लेकिन दाल में नमक के बराबर

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने की बात कहते हैं, मंचों से सीना ठोककर कहते है न खाऊंगा, न खाने दूंगा। वहीं बीजेपी के उपमुख्यमंत्री व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ही उनके बयान को खुली चुनौती देते हुए कहते हैं “भ्रष्टाचार करो लेकिन उतना ही जितना दाल में नमक खाया जाता है”।

यूपी के डिप्टी सीएम भ्रष्टाचार को पूरी तरह से खत्म करने के पक्ष में नहीं हैं। उपमुख्यमंत्री ने ठेकेदारों को दाल में नमक के बराबर भ्रष्टाचार करने की छूट दे दी है। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि ठेकेदार दाल में नमक बराबर ही खाएं। डिप्टी सीएम ने उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। उपमुख्यमंत्री के पास बड़े बजट वाले और मलाईदार माने जाने वाले लोक निर्माण विभाग की जिम्मेदारी है।

केशव प्रसाद मौर्य ने ठेकेदारों को हिदायत देते हुए कहा कि व्यवसाय की तरह ठेकेदारी करें और दाल में नमक बराबर खाएं तो ठीक है। बड़ा घोटाला या गड़बड़ी की तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

केशव प्रसाद मौर्य ने एक तरफ तो राज्य सरकार की ओर से भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रुख अपनाया वहीं दूसरी ओर ‘दाल में नमक’ की तरह खाने की बात कहकर छोटे स्तर पर भ्रष्टाचार की ही पैरवी कर दी।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हम भ्रष्टाचार से मुक्त शासन चाहते हैं। कमाओ लेकिन दाल में जैसे नमक खाया जाता है वैसे खाओ, दाल में नमक की तरह खाओ। उन्होंने कहा कि कमाई करना, व्यापार करना गलत नहीं है लेकिन अगर आप सोचेंगे जनता का जो हिस्सा है, उसे लूटेंगे तो भाजपा की सरकार में लूटने वाले को माफ नहीं किया जाता है।

वहीं डिप्टी सीएम ने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आराम करने को कहा उन्होंने आगे कह, कि वह डिप्रेशन में हैं। कुछ दिन घर बैठकर आराम करें।

जातिवाद खात्मे के लिए केन्द्रीय मंत्री का बयान, गैर बिरादरी में शादी करने से खत्म होगी असमानता

UPPSC के गेट पर ‘यादव आयोग’ लिखने वालों के राज में APO पद पर 40 फीसदी ब्राह्मणों का चयन

हिन्दूवादी संगठन की धमकी, RSS अगर मारना शुरू कर दे तो लेखकों का कुनबा ही नहीं बचेगा

PM को गुंडा कहना मानहानि नहीं है, अगर कोई साबित कर दे कि प्रधानमंत्री वास्तव में गुंडा है

Related posts

Share
Share