You are here

प्रधानमंत्री ‘स्वच्छ भारत’ चाहते हैं लेकिन देश के लोग ‘सच भारत’ देखना चाहते हैं- राहुल गांधी

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर शब्दों से तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा, “सरकार अपने किए गए वादे पूरे करने में नाकाम रही है।”

राहुल गांधी के मुताबिक, “प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत चाहते हैं लेकिन देश के लोग सच भारत देखना चाहते हैं।”  कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, “मोदी जहां कहीं जाते हैं झूठ बोलते हैं।  राहुल गांधी ने आरएसएस को भी नहीं बख्शा और उसे भी खरी खोटी सुनाईं। उन्होंने कहा कि आरएसएस देश का संविधान बदलने पर अमादा है।

उन्होने आगे कहा, ”आरएसएस कहती है ये देश हमारा है, तुम इसके नहीं हो। गुजरात में दलितों की पिटाई की और कहा ये देश हमारा है तुम इसके नहीं हो। राहुल गांधी ने आगे कहा, ”आरएसएस जानती है कि आरएसएस की विचारधारा इंडिया में चुनाव नहीं जीत सकती तो वो अपने लोग हर इंस्टीट्यूशन में डाल रहे हैं।”

उन्होने कहा कहा, ”संविधान में लिखा है कि वन मैन वन वोट। जो संविधान देता है उसको आरएसएस नष्ट करना चाहता है। संविधान बदलना चाहता है। जब तक इन्होने (आरएसएस) हिंदुस्तान में राज किया तब तक झंडे को सैल्यूट नहीं मारा।

किसानों के मुद्दे पर राहुल ने कहा, ”जेटली जी लोक सभा में कहते हैं कर्ज माफ करना हमारी पॉलिसी नहीं है। किसान मर जाए कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्होने कहा, ”मोदी जी ने मेक इन इंडिया दिया लेकिन वह भी मेड इन चाईना हैं। हकीकत यह है कि मेक इन इंडिया फेल हो चुका है।”

जेडीयू नेता शरद यादव द्वारा आयोजित की गई विपक्षी नेताओं की मीटिंग को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने आगे कहा  कि, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया के झूठ का झंडा फहरा रहे हैं  जबकि देश में  उपलब्ध ज़्यादातर  वस्तुओं का निर्माण चीन में किया जा रहा है।”

बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा,  “बीजेपी सरकार ने 2014 में किए गए वादे अभी तक पूरे नहीं कर पाई है, बीजेपी ने विदेशों में जमा कालाधन वापस लाने और नवयुवकों को रोजगार देने का वादा किया था।

सांझी विरासत बचाओ नाम से आयोजित मीटिंग में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता सीपीआईएम के महासचिव सीता राम येचुरी और सीपीआई नेता डी राजा भी शामिल हुए।

Related posts

Share
Share