You are here

योगीराज में पुलिस पर ही भारी पड़ रहे अपराधी, बिजनौर में दरोगा की गला रेत कर हत्या

नई दिल्ली। बिजनौर। नेशनल जनमत ब्यूरो।

योगी सरकार में अपराधी लगातार बेलगाम होते जा रहे हैं। हालत ये है कि लोगों की रक्षा के लिए तैयार किए गए पुलिस वाले भी योगी सरकार में सुरक्षित नहीं रह गए हैं। अभी कुछ ही दिन पहले बदमाशों मे प्रतापगढ़ जिले में एक पुलिस वाले की हत्या कर दी थी औऱ अब बिजनौर में एक दरोगा सहजोर सिंह मलिक की हत्या की बात सामने आ रही है। योगीराज में कानून-व्यवस्था का हाल ये है कि दबंगों और बदमाशों से लोगों की रक्षा करने वाली यूपी पुलिस खुद सुरक्षित नहीं है। बिजनौर जिले में एक ऐसी ही वारदात में कुछ अज्ञात बदमाशों ने एक दरोगा की हत्या कर दी। हत्या के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

इसे भी पढ़ें…मोदीराज मेें OBC,SC,ST के साथ इंजीनियरिंग में भी साजिश, ओपन सीट में किया सिर्फ सवर्णों का चयन

जिले में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जहां अपराधियों ने एक ऑन ड्यूटी दरोगा सहजोर मलिक  को धारदार हथियार से गला काटकर उसकी हत्या कर दी और फरार हो गए। दरोगा की हत्या का कारण और हत्यारों का कुछ पता नहीं लग पाया है। इस घटना के बाद से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है। डॉग स्क्वायड और फिंगरप्रिंट टीम मौके पर पहुंच गई है।

पुलिस ने मौके से एक पाठल और एक हवाई चप्पल भी बरामद की है फिलहाल इस घटना के बाद से जिले में सनसनी फैल गई। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की सीमा पर गंगा नदी के पुल पर बनी, बिजनौर के थाना मंडावर की बालावाली पुलिस चौकी के प्रभारी दरोगा सहजोर सिंह मलिक रात 8 बजे के लगभग मंडावर थाने से मोटर साइकिल द्वारा बालावाली चौकी जा रहे थे।

इसे भी पढ़ें…अमरीका में लगे मोदी गो बैक के नारे, लोगों ने कहा भारतीय आतंकवाद का चेहरा हैं मोदी

चौकी से करीब 500 मीटर पहले पुरानी कांच फैक्टरी के पास अज्ञात बदमाशों ने उन्हें रोक लिया और उन पर पाठल यानी धारदार हथियार से हमला कर दिया। हत्यारों ने पाठल से उनकी गर्दन पर कई वार करके उन्हें मौत के घाट उतार दिया और शव के खेत में फेंक दिया।

सर्विस पिस्टल गायब

दरोगा की सर्विस पिस्टल गायब मिली है। मृतक के सिर पर हेलमेट लगा मिला, वहीं, थोड़ी ही दूरी पर मोटर साइकिल खड़ी मिली। सूचना मिलते है पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया पुलिस के सभी आलाअधिकारी और डीएम मौके पर पहुंचे और घटनास्थल की जांच की। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के इलाके में काफी देर तक डॉग स्क्वायड के साथ कॉम्बिंग अभियान चलाया लेकिन पुलिस को अभी तक कोई भी ऐसा तथ्य हाथ नहीं लगा है।

इसे भी पढ़ें…जेएनयू, क्रिकेट में हिस्सेदारी की मांग, छात्रों ने कहा सवर्णों के बस का नहीं है मेहनत का खेल

ऑन ड्यूटी दरोगा की हत्या के मामले में एसपी बिजनौर का कहना है कि शाम हमारे मंडावर थाने का दरोगा सहजोर मलिक जब अपनी चौकी बालावाली जा रहे थे इसी दौरान रास्ते में कुछ अज्ञात बदमाशों ने उनकी धारदार हथियार से हमलाकर हत्या कर दी, हत्या के कारण का अभी तक पता नहीं लग पाया है।

Related posts

Share
Share