You are here

तोगड़िया के भाई को कांग्रेस का टिकट मिलने से भड़के पाटीदार नेता, देर रात की तोड़ फोड़, उपेक्षा का आरोप

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

गुजरात में चुनावी जंग छिड़ी है, बीजेपी ने दो जबकि कांग्रेस ने रविवार रात 77 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की। सूची सार्वजनिक होने के बाद सूरत में पार्टी समर्थक पाटीदारों ने कांग्रेस कैंडिडेट प्रफुल्ल तोगड़िया के दफ्तर पर हमला कर दिया और जमकर तोड़ फोड़ की।

टिकट बंटवारे पर जैसे बीजेपी में असंतोष सामने आया, वैसे ही कांग्रेस की पहली लिस्ट जारी होने पर गुजरात में पाटीदारों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जंग शुरू हो गई है। पार्टी ने रविवार देर रात जैसे ही लिस्ट जारी की सूरत में पाटीदार कार्यकर्ता तोड़फोड़ पर उतारु हो गये।

पाटीदार कार्यकर्ताओं का आरोप है कि इसमें पाटीदार नेताओं को वाजिब महत्व और प्रतिनिधित्व नहीं दिया गया है। कांग्रेस ने पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के तीन सदस्यों को टिकट दिया है जबकि सूरत नगर निगम के 3 पार्षदों को भी टिकट मिला है।

इन पार्षदों ने पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान हुए हंगामे के बाद चुनाव जीता था। टिकट की लिस्ट सार्वजनिक होने के बाद सूरत में पार्टी समर्थकों ने कांग्रेस कैंडिडेट प्रफुल्ल तोगड़िया, जो कि वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया के चचेरे भाई हैं, के दफ्तर में हमला कर दिया और जमकर तोड़ फोड़ मचाई।

पाटीदार कार्यकर्ताओं ने पार्षद नीलेश कुम्भानी के दफ्तर में भी हमला कर दिया। पाटीदार कार्यकर्ता अपने नेताओं के लिए और टिकट की मांग कर रहे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष के घर की सुरक्षा बढ़ाई- 

घटना के बाद गुजरात पुलिस ने कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी के घर की सुरक्षा बढ़ा दी है। कांग्रेस ने बीजेपी के एक पूर्व सदस्य और जनता दल यूनाइटेड के एक कार्यकर्ता को भी टिकट दिया है। 77 उम्मीदवारों की इस लिस्ट में 3 मुस्लिम कैंडिडेट और 2 महिलाएं शामिल हैं।

पार्टी ने एक कपड़ा व्यापारी को भी टिकट दिया है। ये बिजनेसमैन जीएसटी के खिलाफ चल रहे आंदोलन में बढ़ चढ़कर शिरकत कर रहा था। बता दें कि PAAS के साथ सीट बंटवारे की वजह से कांग्रेस को उम्मीदवारों का नाम ऐलान करने में देरी हुई।

राज्य में कुल 182 विधानसभा सीटों में 89 सीटों पर पहले चरण में नौ दिसंबर को चुनाव होगा । शेष 93 सीटों के लिए चुनाव 14 दिसंबर को होगा । चुनाव परिणाम 18 दिसंबर को आएंगे।

कुल उम्मीदवारों में 11अनुसूचित जनजाति (एसटी) श्रेणी से हैं और सात अनुसूचित जाति (एससी) श्रेणी से हैं । पार्टी सूत्रों ने बताया कि राकांपा और शरद यादव के नेतृत्व वाले जदयू के अलग हुए धड़े से भी बात चल रही है । पार्टी पाटीदार और ओबीसी नेताओं हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकोर के साथ भी चुनावी तालमेल के लिए चर्चा कर रही है।

डरी हुई BJP ने UP में पहली बार किसी CM को चुनाव प्रचार में उतारा है, अब PM का इंतजार है- नरेश उत्तम पटेल

कोई लड़ रहा है तो कोई मौन है, आओ देखते हैं क्रांतिकारी कौन हैं…सूरज कुमार बौद्ध की कविता

BJP प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने खड़ा किया नया विवाद, बोले अशोक नहीं चंद्रगुप्त मौर्य महान थे

समाजसेवी सत्येन्द्र कुमार पटेल बनाए गए जनता दल (यू ) व्यापार प्रकोष्ठ के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष

‘राष्ट्रवाद’ के ठेकेदारों ने CM के कार्यक्रम के जोश में, राष्ट्रध्वज के ऊपर बांधा BJP का झंडा !

टिकट की घोषणा होते ही गुजरात BJP में बगावत, शाह की मौजूदगी में लगे हाय-हाय के नारे, पार्टी ऑफिस घेरा

Related posts

Share
Share