You are here

नितिन पटेल माने तो बागी हुए कोली समाज के नेता, बोले पाटीदार नेता को मिला विभाग तो मुझे क्यों नहीं?

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

गुजरात में भले ही भारी मशक्कत के बाद बीजेपी ने छठवीं बार सरकार बना ली हो मगर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी की मुश्किलें खत्म नहीं हो रही हैं। मनचाहा विभाग न मिलने से पहले तो उनके उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल नाराज हुए फिर उन्हे झुनझुना थमाकर किसी तरह मनाया गया। अब दूसरे मंत्री भी बागी हो गए हैं।

नितिन पटेल का गुस्सा तो अमित शाह के फोन के और वित्त मंत्रालय देकर मैनेज हो गया। अब राज्य के मत्स्य उद्योग मंत्री पुरुषोत्तम सोलंकी ने एक और मंत्रालय देने की मांग करके सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। सोलंकी पांच बार से विधायक हैं और कोली समाज के नेता हैं।

सोलंकी ने सवाल उठाया है कि जब पाटीदार समाज के नेता (नितिन पटेल) को मनचाहा विभाग मिल सकता है, वह भी उनसे पूछकर तो उन्हें क्यों नहीं मिल सकता है?

मत्स्य विभाग से समाज का कल्याण नहीं कर सकता- 

सोलंकी ने कहा है कि उन्हें मत्स्य विभाग दिया गया है। इस विभाग के जरिए वो समाज के लोगों का कल्याण नहीं कर सकते हैं। उनका विभाग मूलत: कुछ तटीय जिलों में ही कारगर है, जबकि उनके समाज के लोग उनसे कल्याण की अपेक्षा रखते हैं।

सोलंकी ने कहा है कि अगर उन्हें कोई और बड़ा विभाग नहीं मिलता है तो उनके समाज के लोग उनसे नाराज हो सकते हैं। अब पार्टी सोलंकी से कैसे निपटती है। यह देखना दिलचस्प होगा। हालांकि, राजनीतिक जानकारों का कहना है कि पार्टी अब दबाव में नहीं आएगी।

बता दें कि सोलंकी से पहले राज्य के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल वित्त, शहरी विकास और पेट्रोकेमिकल विभाग नहीं मिलने से नाराज हो गए थे। उन्होंने विभाग जाकर कामकाज नहीं संभाला था लेकिन बाद में पार्टी आलाकमान का फोन आने के बाद उन्होंने कार्यभार भी संभाल लिया और उन्हें वित्त मंत्रालय भी दे दिया गया।

पहले सीएम रुपानी ने यह विभाग सौरभ पटेल को दे दिया था लेकिन विद्रोह करने के बाद फिर सौरभ पटेल से लेकर वित्त विभाग नितिन पटेल को दे दिया गया था। सोलंकी भी चाहते हैं कि उन्हें मत्स्य उद्दोग के अलावा कोई बड़ा विभाग भी दिया जाय।

कांग्रेस नेता तरुण पटेल ने चुटकी लेते हुए कहा कि राज्य में विकास के बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं, उसके बावजूद विकास और सामाजिक कल्याण की दुहाई देकर बीजेपी सरकार के मंत्री मलाईदार विभागों की मांग कर रहे हैं। जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकास के दावों की पोल खोल रहा है।

जातिवाद का आरोप झेल रही योगी सरकार ने, 4 वरिष्ठों को दरकिनार कर दूसरे ‘सिंह साहब’ को बनाया DGP

अब ऑनलाइन वोटिंग में PM मोदी पर भारी पड़े हार्दिक पटेल, व्यक्ति विशेष-2017 बने, भारी अंतर से पछाड़ा

कम महत्व के मंत्रालय मिलने से डिप्टी CM नितिन पटेल नाराज, हार्दिक के ऑफर से BJP की धड़कनें बढ़ीं

OBC को आबादी के हिसाब से आरक्षण देने की मांग, ग्वालियर से दिल्ली पदयात्रा करेंगे प्रेमचंद कुशवाहा

किसानों का दिमाग खेत-खलिहान-खाद-पानी-बिजली से भटकाकर पाकिस्तान-चीन में उलझा दिया गया है !

मोदी के मंत्री बोले-हम संविधान बदलने आए हैं, लोगों की पहचान धर्म और जाति के आधार पर होनी चाहिए

Related posts

Share
Share