You are here

राम रहीम के बाद अगला कौन? चंडीगढ़ हाईकोर्ट ने दिया राधे मां पर FIR का आदेश

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

खुद को भगवान बताने वाले आसाराम, रामपाल और राम रहीम के काले कारनामों की पोल खुलने बाद भी बाबाओं का धंधा मंदा पड़ने का नाम नहीं ले रहा है। पर्दे के पीछे इनसे शायद ही कोई कुकर्म बचा हो, लेकिन फिर भी इनके अंधभक्तों के लिए ये जेल जाने के बाद भी किसी देवता से कम नहीं।

राम रहीम के जेल जाने के बाद लोगों के मन में था कि अब अगला शिकार कौन? इसका जवाब चंडीगढ़ हाईकोर्ट ने दे दिया है। लोगों को भ्रम में डालने वाली और खुद को साध्वी कहने वाली राधे माँ के खिलाफ भी कोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कोर्ट ने फगवाड़ा के रहने वाले सुरेंद्र मित्तल की याचिका पर संज्ञान लेते हुए एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।मित्तल ने याचिका में कहा, याचिका में कहा कि राधे मां से उन्हें लगातार धमकियां मिल रही हैं कि वह उनके खिलाफ न बोलें।

सुरेंद्र का कहना है कि उसने इस मामले में पुलिस से भी शिकायत की थी, लेकिन उसने कोई कार्रवाई नहीं की. मामले की गंभीरता को देखते हुए कोर्ट ने कपूरथला पुलिस को फटकार लगाई है. साथ ही 13 नवंबर तक जवाब दाखिल करने को कहा है.

गौरतलब है कि स्वयंभू राधे मां का असली नाम सुखविंदर कौर है. पिछले साल सुखिंदर कौर पर एक 32 साल की महिला ने आरोप लगाया था कि राधे मां उसके ससुराल वालों को दहेज मांगने के लिए उकसा रही हैं. हालांकि सुखविंदर ने सारे आरोपों से इनकार किया था. बता दें कि सुखविंदर उर्फ राधे मां मुंबई के बोरीवली में माता की चौकी पर दरबार लगाती हैं.

Related posts

Share
Share