You are here

सीट दिलाने के नाम पर जीआरपी सिपाही कमल शुक्ला ने किया महिला से चलती ट्रेन में रेप

लखनऊ। नेशनल जनमत ब्यूरो

बिजनौर में चलती ट्रेन में बलात्कार का मामला सासमे आया है. बलात्कार का आरोप किसी सामान्य व्यक्ति पर नहीं बल्कि ट्रेन में कानून के रक्षक यानि जीआरपी पुलिस के सिपाही पर ही लगा है. आरोपी पुलिसकर्मी कमल शुक्ला को रेलवे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. पुलिस ने पीड़ित महिला को मेडिकल के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है.

सीट दिलाने के नाम पर किया रेप-

लखनऊ से चंडीगढ़ जाने वाली 5011 ट्रेन में सुबह बिजनौर रेलवे स्टेशन पर उस समय हंगामा हो गया जब यात्रियों ने एक वर्दीधारी सिपाही के साथ बलात्कार का आरोप लगाकर हाथापाई शुरू कर दी. हंगामा देख रेलवे जीआरपी चौकी प्रभारी ने सिपाही को हिरासत में ले लिया. डीएम और एसएसपी ने अस्पताल जाकर पीड़िता से बात की. सिपाही के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर महिला का मेडिकल चेकअप कराया जा रहा है.

27 वर्षीय पीड़ित महिला मूल रूप से जिला रामपुर के बिलासपुर की रहने वाली है. पीड़िता के मुताबिक वह दो दिन पहले दवा लेने के लिए लखनऊ गई थी और वहां से वापस लौटते वक्त गलत ट्रेन में बैठ गई. महिला ने शिकायत में बताया कि सीट न मिलने पर सिपाही ने उसे विकलांग कोच में ले जाकर बैठा दिया.

आरोप है कि उसके बाद सिपाही कमल शुक्ला ने विकलांग कोच का दरवाजा बंद करके उसके साथ रेप कर दिया। बिजनौर स्टेशन पर भीड़ ने विकलांग कोच का दरवाजा खुलवाया तो सिपाही अर्द्धनग्न अवस्था में मिला वहीं महिला सीट पर लेटी थी। इसके बाद भीड़ ने सिपाही को पकड़कर जमकर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया। सिपाही को हिरासत में लेकर महिला को जिला अस्पताल भेज दिया गया है।

Related posts

Share
Share