You are here

किसान की बेटी निर्मला यादव ने मेरिटधारियों को पीछे छोड़,12वीं में किया टॉप

रेवाड़ी। हरियाणा

दलित और पिछड़ी जातियों में शिक्षा की अलग जगने के साथ ही मेरिटधारियों को पीछे छोड़ने की परम्परा चल पड़ी है. बहुजन समाज के कल्पित वीरवाल, टीना डाबी, भूषण अहीरे के बाद अब हरियाणा के रेवाड़ी की बेटी निर्मला यादव ने 12 वीं की परीक्षा में जिला टॉप करके समाज का नाम रोशन कर दिया.

किसान की बेटी है निर्मला-

निर्मला को 500 में 474 नंबर मिले हैं. निर्मला के पिताजी का नाम सुभाष यादव है.वह पेशे से किसान हैं. बेटी की सफलता का श्रेय वे उसकी कड़ी मेहनत और गुरुजनों का आशीर्वाद के अलावा बाबा साहब अंबेडकर और वीपी मंडल को देते हैं. रेवारी के निमोठ गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ाई करने वाली निर्मला की गरीबी का आलम यह था कि उनके दादाजी बकरी पालकर परिवार का भारण पोषण करते थे. खबर के बाद निमोठ गांव में जश्न का माहौल है। छोटे-छोटे गांव में भी प्रतिभा ने इस तरह से चौकाना शुरू कर दिया है. निर्मला की सफलता को लेकर अब पूरा प्रदेश गर्व महसूस कर रहा है.

Related posts

Share
Share