You are here

RSS चीफ मोहन भागवत ने CM आदित्यनाथ के सामने ही UP की कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल

नई दिल्ली, नेशलन जनमत ब्यूरो। 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने उत्तर प्रदेश की हालिया कानून व्यस्था पर सवालिया निशान लगाए हैं। उन्होंने सूबे की कानून व्यवस्था को लेकर सीएम आदित्यनाथ को नसीहत दी। संघ प्रमुख ने कहा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य में कानून व्यवस्था को सुधारें।

करीब एक घंटे तक चली मीटिंग में सीएम आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व दिनेश शर्मा की मौजूदगी में कही। संघ प्रमुख ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भारी संख्या में बच्चों की मौत का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सीएम ऐसे कदम उठाएं जिससे प्रदेश की छवि खराब करने वाली दूसरी घटनाएं न हों।

इन नेताओं ने मीटिंग में कहा कि नोटबंदी की वजह से चार महीने तक लोगों को काफी किल्लत हुई लेकिन इससे इच्छित परिणाम नहीं मिले। वहीं आरएसएस के कार्यकर्ता जीएसटी को अच्छा कदम बता रहे हैं।

हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी आंकड़ों में बताया गया कि नोटबंद के बाद 1000 रुपए और 500 रुपए के 99 फीसदी नोटों की वापसी हुई है। जिससे काले धन पर लगाम लगाने के इरादे नाकाम होने के स्पष्ट संकेत मिलते हैं।

मीटिंग में इस बात पर जोर दिया गया कि सरकार के द्वारा लिए गए इन फैसलों से छोटे व्यापारियों और कामगारों का भारी नुकसान हुआ। जो बीजेपी का वोट बैंक है। इसके बाद प्रमुख भागवत ने उत्तर प्रदेश में बढ़ते बेतहाशा अपराधों पर अपनी नाराजगी व्यक्त की।

राज्य में हाल के दिनों में रेप, बलात्कार, ऑनर किलिंग की घटनाएं प्रमुख रूप से सामने आईं है। उत्तर प्रदेश पुलिस के अपराध के आंकड़ों के अनुसार इस साल 15 मार्च से 15 अप्रैल के बीच पिछले साल के मुकाबले रेप की घटनाओं में चार गुनी और हत्या की घटनाएं दोगुनी हो गई है। वहीं लूट की घटनाओं में कई गुणा बढ़ोतरी हुई है।

Related posts

Share
Share