You are here

RTI खुलासा: खुद को पिछड़ा बताने वाले PM के ऑफिस को नहीं पता कि देश का पहला OBC PM कौन है?

नई दिल्ली, नीरज भाई पटेल ( नेशनल जनमत)  

राजनीतिज्ञों की राजनीति किसी के समझ में आ जाए फिर वो राजनीति ही क्या? हर बात का गोलमोल बात करके सामने वाले को संतुष्ट कर देना और आश्वासन देना ही तो इनकी फितरत होती है।

अपनी जुमलेबाजी के लिए बदनाम हो चुके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यालय से सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई सूचना में एक चौंकाने वाली जानकारी हाथ लगी है।

चुनाव नजदीक आते ही मंचों से खुद को चीख-चीखकर पिछड़ा बताने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यालय (PMO) को खुद इस बात की जानकारी नहीं कि देश का पहला ओबीसी प्रधानमंत्री कौन है ? आरटीआई गोरखपुर के रहने वाले सामाजिक कार्यकर्ता कालीशंकर ओबीसी ने डाली थी।

अमित शाह ने कहा था मोदी हैं पहले ओबीसी पीएम- 

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सिपहसालार, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 2015 में दिल्ली में आयोजित हुए ओबीसी मोर्चा के एक कार्यक्रम में कहा था कि बीजेपी इकलौती पार्टी है, जिसने देश को सबसे ज्यादा ओबीसी सीएम और देश का पहला ओबीसी PM दिया है.

इस बात पर लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार ने इस बात का विरोध भी किया था।

पीएमओ के रिकॉर्ड में नही जानकारी- 

तीन फरवरी 2018 को प्रधानमंत्री कार्यालय से सूचना के अधिकार के तहत कालीशंकर ओबीसी ने पूछा था कि देश का पहला ओबीसी प्रधानमंत्री कौन है?

इसके जवाब में प्रधानमंत्री कार्यालय के अवर सचिव प्रवीन कुमार ने 19 फरवरी को एक पत्र कालीशंकर ओबीसी को भेजा आरटीआई क जवाब में भेजी गई इस सूचना में लिखा कि प्रधानमंत्री कार्यालय के पास इस तरह की कोई जानकारी रिकॉर्ड में नहीं है।

पिछड़े वर्ग के हितों के लिए लगातार संघर्ष करने वाले कालीशंकर यादव उर्फ कालीशंकर ओबीसी ओबीसी आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और गोरखपुर उपचुनाव में बीजेपी के खिलाफ ओबीसी को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

कालीशंकर कहते हैं कि हैरत की बात देखिए गुजरात का मुख्यमंत्री रहकर जो शख्स अपनी जाति को ओबीसी में शामिल करता है। चुनाव के समय मंचों से चीख-चीखकर खुद को पिछड़ा और नीच जाति तक का बताता है। उसी शख्स के कार्यालय को ये पता तक नहीं कि देश का पहला ओबीसी प्रधानमंत्री कौन है?

सवाल ये है कि पता नहीं है या बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा बोले गए झूठ को छुपाने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय जानते हुए भी कुछ बताना नहीं चाहता है?

नीतीश-लालू ने कहा था देवेगोड़ा हैं पहले ओबीसी पीएम

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि अमित शाह बेशर्मी से सफ़ेद झूठ बोल कर इतिहास को झुठला रहे है. देश का पहला OBC प्रधानमंत्री श्री देवेगौड़ा को हमने बनाया था

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ गठबंधन से पहले कहा था कि दरअसल, शाह ने इसे भाजपा की उपलब्धि करार दिया था।

बकौल नीतीश, पिछड़ा वर्ग का होना नहीं, बल्कि काम करना अहम होता है। भाजपा को झूठ बोलने की आदत है। नरेंद्र मोदी नहीं, बल्कि एचडी देवगौड़ा देश के पहले ओबीसी प्रधानमंत्री थे।

अब स्वामी चिन्मयानंद से रेप केस हटाएगी ‘रामराज’ का दावा करने वाली योगी सरकार, लोगों ने उठाए सवाल

उन्नाव रेप कांड: सत्ता का नशा और CM के स्वजाति होने से मिली ‘ताकत’ का जमकर हुआ दुरुपयोग !

CM का ‘रामराज’ ‘ठाकुरराज’ बनकर रह गया है, योगी से यूं मुस्कुराकर मिलने पहुंचे रेप के आरोपी MLA कुलदीप सेंगर

BJP के एक और सांसद ने दिखाई हिम्मत, PM से बोले दलितों को झूठे मुकदमों में फंसा रही योगी सरकार

SC-ST हिस्सेदारी को लेकर पुलिस अधिकारी डॉ. बीपी अशोक का साहसिक कदम,राष्ट्रपति को भेजा इस्तीफा

 

 

 

 

Related posts

Share
Share