You are here

बिहार: पुलिस भर्ती के लिए सुबह दौड़ने निकली युवती के साथ गैंगरेप, तेजाब से नहलाकर मार डाला

नई दिल्ली/पटना, नेशनल जनमत ब्यूरो।

बीजेपी समर्थित बिहार के नीतीशराज में दरिंदगी की हद पार करने वाली घटना सामने आई है। ऐसी घटना जिसे सुनकर हर किसी का कलेजा कांप उठेगा। दरिंदों ने पहले गीता (बदला हुआ नाम) के साथ बलात्कार किया फिर सबूत मिटाने के लिए उसे तेजाब से नहलाकर वीभत्स तरीके से हत्या कर दी।

ये दिल दहला देने वाली घटना बिहार के औरंगाबाद जिले के हसपुरा थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर गांव की है। मीडिया खबरों के मुताबिक 18 वर्षीय लड़की पुलिस में शामिल होना चाहती थी। पुलिस में जाने की ललक के चलते वह पढ़ाई-लिखाई के साथ ही हर दिन दिन रेस लगाने जाती थी।

रोजाना की तरह बीते शनिवार को भी वह तड़के 3 बजे घर से दौड़ लगाने के लिए बाहर गई। अक्सर वह 6 बजे दौड़ पूरी कर लौट आती थी। लेकिन वह उस दिन 7 बजे तक घर वापस नहीं आई। परिजनों ने गीता के लौटने के बारे में उसकी सहेलियों से पूछाताछ की लेकिन उसके  बारे में कुछ पता नहीं चल सका। जिसके बाद परिजनों ने थाने में उसके गुमशुदा होने की शिकायत दर्ज कराई।

शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू किया। जिसके बाद रघुनाथपुर गांव के पास से लड़की का झुलसा हुआ शव बरादमद हुआ। मेडिकल कराने पर लड़की के साथ रेप की पुष्टि हुई उसके शरीर पर चोट के भी निशान भी थे।

पुलिस के मुताबिक, बलात्कार के बाद पूजा के साथ मारपीट की गई फिर सबूत मिटाने के लिए उसके ऊपर तेजाब डालकर हत्या कर दी गई। परिजनों का कहना है कि पुलिस ने इस मामले में ढिलाई बरती। अगर पुलिस ने समय रहते तलाश की होती तो उनकी लड़की की जान बच सकती थी।

तो क्या गोबर और गोमूत्र खरीदेगी, बच्चों के लिए ऑक्सीजन ना खरीद पाने वाली भगवा सरकार ?

PM मोदी के ‘ना खाऊंगा ना खाने दूंगा’ को केशव मौर्य की चुनौती, बोले खाओ लेकिन दाल में नमक के बराबर

UPPSC के गेट पर ‘यादव आयोग’ लिखने वालों के राज में APO पद पर 40 फीसदी ब्राह्मणों का चयन

हिन्दूवादी संगठन की धमकी, RSS अगर मारना शुरू कर दे तो लेखकों का कुनबा ही नहीं बचेगा

PM को गुंडा कहना मानहानि नहीं है, अगर कोई साबित कर दे कि प्रधानमंत्री वास्तव में गुंडा है

Related posts

Share
Share