You are here

किसानों के बाद योगी सरकार का सहारनपुर पीड़ितों के साथ भी मजाक, दलितों को मिला 100 रुपये मुआवजा

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव में महाराणा प्रताप जयंती पर निकाली जा रही शोभायात्रा के दिन भड़की जातीय हिंसा में दर्जनों लोग घायल हुए थे। दलितों के दर्जनों घरों को आग के हवाले कर दिया गया था। ठाकुर और दलितों के बीच हुए इस जातीय दंगे में कई लोगों की जान भी चली गई थी।

सहारनपुर कांड के पीड़ित दलित लगातार सरकार और प्रशासन पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाते रहे हैं। अब कई महीनों बाद सरकार ने इस जाति संघर्ष में पीड़ितों को मुआवजा दिया है, लेकिन इस मुआवजे में भी जातीय भेदभाव साफ दिख रहा है।

सरकार ने करीब 29 दंगा पीड़ितों को 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद मुहैया कराई है। दंगा पीड़ितों को मुआवजा देने में सरकार ने पक्षपात में कोई कमी नहीं छोड़ी है। जिसके चलते दंगा पीड़ित बेहद नाराज़ हैं।

सरकार ने जब शब्बीरपुर गांव में दंगा पीड़ितों के मुआवजा दिया तो उसमें किसी किसी नाम पर मात्र 100 रुपये की चेक पहुंची है। जातीय दंगे का दंश झेल रहे इन दलित लोगों का कहना है कि सरकार ने आर्थिक मदद देकर हमारा मज़ाक बनाया है।

सहारनपुर में जातीय हिंसा के दौरान सबसे ज्यादा नुकसान दलितों का हुआ। लेकिन आर्थिक मदद ठाकुरों को ज्यादा मिली है। लोगों का कहना है जहां दलितों को नुकसान की भरपाई करने के लिए 100-100 रुपये के चेक दिए गए वहीं अधिकतम 3500 रुपये का चेक दिया गया।

आपको बता दें सहारनपुर में ठाकुर और दलितों के बीच आपको बता दें सहारनपुर में ठाकुर और दलितों के बीच भड़की जातीय हिंसा में दलितों के 50 घरों में आग लगा दी गई थी। जिसमें एक व्यक्ति की मौत भी हो गई थी। जब बीएसपी सुप्रीमो हालात का जायजा लेने सहारनपुर पहुंची उसके बाद लौटते वक्त भी दलितों के ऊपर तलवारों से हमला कर दिया गया था। जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी।

आप लिपटे रहिए धर्म की चासनी में, यहां देश में पहली बार जाति के नाम पर बन गया ‘ब्राह्मण आयोग’

जापानी PM से गुजरात के विकास मॉडल की हकीकत छुपाने के लिए, झुग्गी-झोपड़ी को कपड़े से ढका गया

योगी का रामराज: सोशल मीडिया पर विचारों से डरी भगवा सरकार ने, एक दलित शिक्षक को किया निलंबित

भूखी जनता को दरकिनार कर, गुजरात चुनाव में बुलेट ट्रेन का सपना बेचने निकले, अच्छे दिन वाले PM मोदी

विदेश में मुगल बादशाह की मजार पर फूल चढ़ाने पहुंचे PM, UP में मुगल इतिहास बदलने की तैयारी

 

Related posts

Share
Share