You are here

वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल को फॉलो करने वालों की संख्या 1 लाख के ऊपर पहुंची

नई दिल्ली। नेशनल जनमत डेस्क

वरिष्ठ पत्रकार और फेसबुक पर सामाजिक न्याय की अलख जगाए रखने वाले दिलीप मंडल के फेसबुक पर एक लाख से अधिक फॉलोअर हो गए हैं. दिलीप मंडल की गिनती बहुजन समाज के अग्रणी चिंतकों में होती है.

फेसबुक पर मिल रही हैं बधाईयां-

देश भर के बुद्दीजीवी उनकी इस उपलब्धि के लिए फेसबुक समेत अन्य संचार माध्यमों से उन्हें बधाई दे रहे हैं. आपको बता दें कि दिलीप मंडल ने फेसबुक पर अपने लेखन के जरिए देश के 85 फीसदी बहुजन समाज मे अपनी खास जगह बनाई है. आज फेसबुक पर शायद ही ऐसा नाम होगा जो देश में सामाजिक- राजनीतिक बदलाव चाहता हो और दिलीप मंडल के नाम से परिचित न हो.

छात्रों में लोकप्रिय हैैं दिलीप मंडल-

दिलीप मंडल इलाहाबाद और दिल्ली में सिविल सेवा की तैयारी कर रहे बहुजन समाज के छात्रों के बीच मे खासे लोकप्रिय हैं. हालांकि इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए दिलीप मंडल को यथास्थितिवादी और मनुवादी सवर्णों की नाराजगी भी झेलनी पड़ी. उनकी फेसबुक पर आकर गाली-गलौज करने वाले मनुवादियों का आभार मानते हुए दिलीप मंडल कहते हैं कि मनुवादी उनके लिए अमूल्य पूंजी है, ये वो लोग हैं जो उनके लिखने की अहमियत को समझते हैं और अपनी प्रतिक्रिया देते हैं.

उनका मानना है कि देश के विकास के लिए स्वस्थ्य बहस का लोकतांत्रिक माहौल होना बहुत जरूरी है. एक जैसे विचारों की प्रधानता से देश में तालिबानी मानसिकता वाले लोगों के शासन की संभावना बनी रहती है. दिलीप मंडल ने अपने करियर की शुरूआत कॉर्पोरेट मीडिया से ही शुरू की और आप आजतक चैनल की लॉंचिंग टीम का हिस्सा भी रहे. इसके अलावा दिलीप मंडल इंडिया टुडे हिंदी में मैनेजिंग एडिटर भी रहे हैं. दिलील मंडल की सोच है कि देश मे बहुजन समाज के लोगों का अपना मीडिया हो ताकि उन्हें अपनी खबरों के लिए किसी कॉरपोरेट-पॉलीटिक्स के गठजोड़ के चैनल की तरफ आंख लगाकर न देखना पड़े.

प्रमुख पुस्तकें-

मीडिया का अंडवर्ल्ड
कॉरपोरेट मीडिया दलाल स्ट्रीट
जातिवार जनगणना संसद समाज और मीडिया

Related posts

Share
Share