You are here

CD कांड पर हार्दिक पटेल का पलटवार, मर्द हूं, नपुंसक नहीं, चुनाव हार रही BJP की गंदी राजनीति

अहमदाबाद/ नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

गुजरात चुनाव पूरे शबाब पर है। बीजेपी-कांग्रेस के बीच शह मात का खेल जारी है। ऐसे में अपनी डूबती नैया को पार लगाने के लिए बीजेपी की साहेब और उनकी सिपहसालार की जोड़ी किसी भी हद और स्तर तक जा सकती है।

इसी राजनीतिक विसात की अगली कड़ी के रूप में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की सोशल मीडिया पर एक के बाद एक दो वीडियो क्लिप्स वायरल हुईं। दोनों सीडी में कहा जा रहा है कि हार्दिक पटेल इनमें किसी महिला के साथ नजर आ रहे हैं।

इस बीच पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) की कोर कमेटी में शामिल हुए हार्दिक ने वीडियो क्लिप्स को खारिज करते हुए इसे बीजेपी की भद्दी राजनीति बताया।

उन्होंने कहा, यह वीडियो पूरी तरह नकली है और इसके साथ छेड़छाड़ की गई है। यह बीजेपी की गंदी राजनीति का हिस्सा है, जो मुझपर हमला करने के लिए बेहद नीचे गिर गई है।

हार्दिक बोले मैं बहुत बड़ा आदमी हो गया हूं- 

हार्दिक ने कहा, ”मैं मर्द हूं, नपुंसक नहीं।” हार्दिक ने ट्वीट में लिखा, बीजेपी ने मेरी निजी जिंदगी पर हमला किया है। बीजेपी में भी कई लोग हैं और मैं उनकी सेक्स सीडी भी लेकर आऊंगा। हार्दिक बड़ा हो गया है। करोड़ों रुपये मेरी छवि खराब करने के लिए खर्च किए जा रहे हैं।

गंदी राजनीति शुरू चुकी है। मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता, लेकिन गुजरात की महिलाओं का अपमान किया जा रहा है। हार्दिक ने यह भी कहा कि वीडियो क्लिप्स से पाटीदार आंदोलन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

उन्होंने कहा, ”आंदोलन और सेक्स क्लिप्स के बीच कोई कनेक्शन नहीं है। उन्होंने मेरी निजी जिंदगी पर हमला किया है, लेकिन इसका उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ेगा।” हार्दिक ने कहा, ”वीडियो वायरल होने के बाद मैं कडी में गया, जहां हजारों की तादाद में युवा मेरे साथ खड़े थे।

जब तक लोग मेरे साथ हैं, तब तक मेरी निजी जिंदगी पर हमला पाटीदार आंदोलन पर असर नहीं डाल पाएगा। इस मामले पर केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राज्यमंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा,”हार्दिक पटेल की सेक्स सीडी से बीजेपी का कोई लेना-देना नहीं है। बीजेपी पर इल्जाम लगाने से अच्छा है कि हार्दिक शिकायत दर्ज कराएं।

पत्नी के ‘आप’ से नपा अध्यक्ष चुनाव लड़ने पर, जेल में बंद पत्रकार शरद कटियार बोले, ना झुका हूं, ना झुकूंगा

भगवाराज: 1 किलो टमाटर खरीदने के लिए 5 किलो उड़द की दाल बेचने को मजबूर है देश का किसान

सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण चीफ जस्टिस पर क्यों चिल्लाए, पढ़िए पूरा सच जो मीडिया ने छुपा लिया !

वक्त की कमी का रोना रोने वालों के लिए नजीर है, RED के इंजी. नरेन्द्र सिंह पटेल-प्रमिला सिंह की जिंदगी

उत्तराखंड: BJP नेता का कारनामा, टेंपो नंबर को डंपर पर डालकर तीन साल से वन निगम को लगा रहे थे चूना

साहेब की अपील भी नहीं सुन रहे भक्त, गो-तस्‍करी के शक में दो मुस्लिमों की पिटाई, एक की मौत

 

Related posts

Share
Share