You are here

सहारनपुर में दलितों की एकतरफा गिरफ्तारी पर आक्रोश, यूपी भवन दिल्ली पर प्रदर्शन

दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

सहारनपुर में दलितों के खिलाफ यूपी पुलिस की एकतरफा कार्रवाई को लेकर विभिन्न सामाजिक संगठनों का आक्रोश धीरे-धीरे बाहर आ रहा है। सोशल साइट्स से लेकर अन्य जगहों पर लोग दलितों और भीम आर्मी के लोगों की गिरफ्तारी पर सरकार और प्रशासन को कटघरे में खड़ा भी कर रहे हैं. रविवार को चाणक्यपुरी स्थित उत्तर प्रदेश भवन पर जेएनयू के छात्र संगठन बिरसा अंबेडकर फुले (बापसा) और अन्य सामाजिक न्याय की अवधारणा से जुड़े संगठनों ने प्रदर्शन किया.

प्रदर्शनकारियों की मानें तो यूपी पुलिस ने सहारनपुर हिंसा में एकतरफा कार्रवाई करते हुए अब तक भीम सेना के कार्यकर्ताओं समेत तकरीबन 200 दलितों को गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन इससे पुलिस की कार्यशैली पर सवाल भी खडे़ हो रहे हैं और देश भर में यूपी पुलिस के जातिवादी रवैये को लेकर प्रदर्शन भी शुरु हो गए हैं. इस प्रदर्शन से दो दिन पूर्व ही माकपा (माले) के बैनर तले लोगों ने उत्तर प्रदेश भवन का घेराव किया था.प्रदर्शन में शामिल लोगों का कहना था कि हम यहां इसलिए एकत्रित हुए हैं, ताकि उत्तर प्रदेश सरकार इस संबंध में कोई ठोस कदम उठाए और दलितों पर हो रहे अत्याचार रुकें. उन्होंने स्थानीय प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि सभी अत्याचारियों का साथ दे रहे हैं. पुलिस भी उन्हीं का साथ दे रही है। दलितों को बचाने वाला कोई नहीं है. प्रदर्शन में शामिल लोगों ने उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करके हुए रेजीडेंट कमिश्नर उत्तर प्रदेश को ज्ञापन भी सौंपा था.

Related posts

Share
Share