You are here

जुमला साबित हुआ PM का भ्रष्टाचार मुक्ति का वादा, MP में करप्शन के खुलासे पर IAS दंपति का तबादला

नई दिल्ली/भोपाल, नेशनल जनमत ब्यूरो।

चुनावी रैलियों के दौरान पीएम मोदी भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेकने की बात कहते हैं। सार्वजनिक मंच से प्रधानमंत्री घोषणा करते हैं कि भ्रष्टाचार को किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लेकिन लगता है कि अन्य वादों की तरह भ्रष्टाचार भी एक जुमला ही साबित हुआ है।

मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के कामकाज से तो कम से कम ऐसा साबित हो ही रहा है कि प्रधानमंत्री का ‘ना खाऊंगा, ना खाने दूंगा’ का दावा दिल्ली से मध्य प्रदेश तक आते-आते शून्य हो जा रहा है। भाजपा शासित मध्य प्रदेश में भ्रष्टाचार उजागर करने वाले एक आईएएस पति-पत्नी को ईमानदारी की सजा तबादले के रूप में दी जा रही है।

भोपाल नगर निगम में डीजल घोटाले का खुलासा करने वाली IAS छवि भारद्वाज का शिवराज सरकार ने रातों-रात ट्रांसफर करके उन्हें घोटाला उजागर करने का ईनाम दे दिया है। इतना ही नहीं छवि की तरह उनके पति भी ईमानदारी सजा भुगत चुके हैं।

छवि के पति नंदकुमारम का सरकार तबादला करवा चुकी है। नीमच के डीएम रहते हुए उन्होंने वहां पर हो रही अवैध वसूली बंद करवा दी थी। उनकी ईमानदारी सरकार को पसंद नहीं आई जिसके बाद उनका ट्रांसफर करवा दिया गया।

नगर निगम में हो रहे डीजल घोटाले की जांच खुद आईएएस अफसर छवि देख रही थीं। निगम के सूत्रों के मुताबिक, निगम के पेट्रोल पंप से अधिकारी, मंत्री और नेता यहां तक की रसूखदार लोग अपनी निजी गाड़ियों में डीजल भरवाते थे। इन लोगों तक छवि पहुंच पाती उससे पहले ही उनका ट्रासंफर कर दिया गया।

इससे पहले नंदकुमारम ने नीमच के कलेक्टर रहते हुए सभी टोल नाकों पर अवैध वसूली बंद करा दी थी। जिसके कारण स्थानीय और प्रदेश स्तर नेता प्रभावित हो रहे थे। भाजपा नेताओं ने उन पर आम आदमी पार्टी के पक्ष में काम करने का आरोप भी लगाया था। बाद में शिवराज सरकार ने उनका ट्रांसफर कर दिया।

सरकारी तंत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का ईनाम इस दंपत्ति को तबादले के रूप में मिला। पहले अवैध वसूली रोकने पर आईएएस ऩंदकुमारम और अब नगर निगम घोटाले का खुलासा करने पर आईएएस छवि का ट्रांसफर। इससे पता चलता है कि पीएम मोदी की न खाऊंगा न खाने दूंगा की नीति भाजपा शासित राज्य में ही अधिकारियों पर भारी पड़ रही है।

जानिए नकल माफियाओं केअरबों के धंधे पर कैसे पानी फेर दिया आईएएस आशुतोष निरंजन ने

BJP-RSS को धर्म से नहीं जाति से पकड़िए, RSS को हिन्दुवादी कहने से उसका जातिवादी चरित्र छुप जाता है

आधा दर्जन केस वाले सांसद को PM ने बनाया केन्द्रीय मंत्री, लोग बोले ‘साफ छवि’ भी मोदी जी का जुमला है

फर्रुखाबाद: बच्चों की मौत मामले में DM-CM आमने सामने, DM ने योगी सरकार के खिलाफ दर्ज कराई FIR

आखिर अपने स्टूडेंट की ही थीसिस चुराने वाले शिक्षक की याद में कौन मनाता है शिक्षक दिवस ?

 

Related posts

Share
Share