You are here

गाय के नाम पर मुस्लिमों की हत्या कर देना हिंदुत्व के सिद्धांत के खिलाफ है- शिवसेना

मुम्बई, नेशनल जनमत ब्यूरो।

देश भर में गौरक्षा के नाम पर निर्दोष मुसलमानों की हत्या के खिलाफ लोगों का मोदी सरकार के खिलाफ आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। अब भाजपा की प्रमुख सहयोगी पार्टी शिवसेना ने भी गौरक्षा के नाम पर मुसलमानों की हत्या किए जाने पर भाजपा को आड़े हाथों लिया है। इस मामले में शिवसेना ने एक राष्ट्रीय नीति बनाने की भी मांग की है और लोगों की हत्याएं रोकने के लिए कानून को सख्ती से लागू करने की बात कही है।

इसे भी पढ़ें…ओवैशी ने गलत क्या कहा , ये देश वाकई किसी के बाप का नहीं है

शिवसेना ने गौ रक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं पर सवाल उठाते हुए इसे हिंदुत्व के खिलाफ बताया है। शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखे संपादकीय के अनुसार बीफ का मुद्दा खाने की आदत, व्यापार और रोजगार से जुड़ा है। इस मुद्दे को लेकर एक राष्ट्रीय नीति होनी चाहिए। इसमें कहा गया है कि जो लोग कल तक गायों की रक्षा कर रहे थे वे हिंदू थे पर आज वे हत्यारे बन गए हैं।

संपादकीय में प्रधानमंत्री मोदी के उस बयान का स्वागत किया गया है जिस में उन्होंने गौरक्षा के नाम पर हत्या करने वालों को चेतावनी दी थी। शिवसेना ने कहा कि हम इस मामले पर प्रधानमंत्री के कदम का समर्थन करते हैं। किसी को भी गौरक्षा के नाम पर कानून हाथ में लेने का हक नहीं है, लोगों की हत्या करना हिंदुत्व के सिद्धांत के खिलाफ है।

भीड़ द्वारा गौ हत्या और बीफ खाने के बाद लोगों की हत्या पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने हाल में ही कहा था कि ऐसी घटनाएं गंभीर हैं। उन्होंने कहा था कि इस तरह की घटनाएं तीन साल के राजग सरकार के कार्यकाल की तुलना में पहले की सरकारों के समय ज्यादा हुई थीं।

इसे भी पढ़ें…चाल, चरित्र और चेहरे की बात करने वाली बीजेपी के नेता का चलती बस में युवती से रेप का वीडियो वायरल

गौरतलब है कि हाल ही में हरियाणा के बल्लभगढ़ में बीफ खाने का आरोप लगाकर 15 वर्षीय किशोर जुनैद की ट्रेन में हत्या कर दी गई थी। झारखंड के रामगढ़ में भी बीफ ले जाने के आरोप में मुस्लिम मांस व्यापारी की हत्या कर दी गई। इस हत्या के आरोप में भाजपा नेता नित्यानंद को गिरफ्तार किया गया है।

Related posts

Share
Share