You are here

दरिंदगी: बैल चुराने के आरोप में दलित महिला को निर्वस्त्र कर दौड़ा दौड़ाकर पीटा

महाराष्ट्र। नेशनल जनमत ब्यूरो

महिलाओं के आत्मसम्मान और सुरक्षा की बात करने वाली बीजेपी शासित राज्यों में महिलाओं के साथ आपराधिक मामले कम होने की बजाए बढ़ते जा रहे हैं। भाजपा के सरकार में आने के बाद से दलितों और महिलाओं के प्रति पूरे देश में अपराध बढ़े हैं.

दलित महिला के साथ अभद्रता एक मामला महाराष्ट्र में सामने आया है। महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में बैलों की एक जोड़ी चुराने के आरोप में 50 वर्षीय दलित महिला को पहले निर्वस्त्र किया गया फिर उसे सरेआम पीटते हुए हैवानियत की सारी हदे पार कर दी गई है।

फिलहाल मामला दर्ज कर लिया गया है और अब तक 23 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है. जानकारी के अनुसार गांव के रहने वाले सखाराम उगाले ने महिला और उसके बेटे पर उसकी गौशाला से बैलों का एक जोड़ा चुराने की कोशिश करने का आरोप लगाया। उसने वहां कुछ और लोगों को बुलाया और करीब 30 लोगों की भीड़ ने महिला और उसके बेटे की कथित तौर पर डंडों से पिटाई की।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने महिला को निर्वस्त्र भी कर दिया। मामले की जांच एसडीपीओ बीबी महामुनि कर रहे हैं। एसडीपीओ ने बताया कि महिला को अस्पताल ले जाने के बाद यह मामला सामने आया। फिलहाल, पीड़िता की शिकायत और मेडिकल रिपोर्ट के आधार केस दर्ज किया गया।

Related posts

Share
Share