You are here

लीजिए अब ‘ब्राह्मणों के भगवान’ के मंदिर में महादलित महिलाओं को घुसने से रोका, पुलिस भी नाकाम

नई दिल्ली/ पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो।

जातिवाद के पुरोधा लाख दावा कर लें कि देश में अब जातिवाद खत्म हो गया है, पर आज भी जाति का अहंकार लेकर जन्म लेने वाले लोग समाज में मिल ही जाएंगे। नेशनल जनमत तो हैरान से ऐसे लोगों की सोच पर जो बार-बार लुटने -पिटने और अपमानित होने के बाद भी मंदिर जाने की जिद पर अड़े रहते हैं। अरे अगर आपकी किसी के प्रति इतनी श्रद्धा है तो घर में रहकर उसकी पूजा करिए ना। कम से कम पिटने और जलील होने से तो बच ही जाएंगे।

इसे भी पढ़ें…CBI छापों के बाद लालू की मोदी – शाह को चेतावनी, फांसी पर चढ़ जाऊंगा पर दोनों का अंहकार जरूर तोड़ूंगा

बिहार के भागलपुर का मामला- 

बिहार के भागलपुर जिले के दास टोला गांव में उस समय तनाव बढ़ गया, जब दर्जनभर महादलित महिलाओं को मंदिर में घुसने से रोक दिया गया। इन महिलाओं को शुक्रवार को 200 साल पुराने काली मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया गया, जिसके बाद महिलाओं ने पुलिस प्रशासन को लिखित शिकायत दर्ज कराई और उनसे मामले में हस्तक्षेप करते हुए न्याय दिलाने की मांग की।

पुलिस पहुंची फिर भी नहीं खुले कपाट- 

मंदिर के पुजारियों का जातिवाद देखिए मंदिर में प्रवेश करने गईं महिलाओं को जब मंदिर में प्रवेश की इजाजत नहीं मिली तो इन लोगों ने पुलिस को मौके पर बुला लिया। पुलिस वाले  भी बहुत देर तक मंदिर का दरवाजा खटखटाते रहे पर पुजारी ने दरवाजे नहीं खोले।

इसे भी पढ़ें…उधर पीएम मोदी पर हमलावार हुए लालू तो सरकारी तोते सीबीआई को याद आया 11 साल पुराना मामला

दास टोला निवासी मंगिनी देवी ने कहा, हम जिला मजिस्ट्रेट, पुलिस महानिरीक्षक व पुलिस उपमहानिरीक्षक के समक्ष इस घटना के संबंध में और दलित महिलाओं के लिए मंदिर के कपाट खुलवाने में स्थानीय पुलिस की नाकामी को लेकर लिखित शिकायत दर्ज कराएंगे. पुलिस थाने के प्रभारी राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि स्थानीय पुलिस द्वारा मंदिर के कपाट बार-बार खुलवाने के प्रयास के बावजूद मंदिर के कपाट शुक्रवार देर रात तक बंद रहे. मंगिनी ने कहा कि दलित महिलाओं को मंदिर के बाहर से ही प्रार्थना करने पर दबाव बनाया गया, लेकिन महिलाओं ने ऐसा करने से इनकार कर दिया.

इसे भी पढ़ें…रायबरेली में मारे गए हमलावरों को अपराधी कहते ही ब्राह्मण संगठन बने स्वामी प्रसाद मौर्या के दुश्मन

Related posts

Share
Share