You are here

सुप्रीम कोर्ट सख्त : गाय के नाम पर हिंसा करने वालों पर करें सख्त कार्रवाई, पीड़ितों को दें मुआवजा

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

गौरक्षा के नाम पर देश में बढ़ रही घटनाओं को संज्ञान में लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने फर्जी गोरक्षकों की हिंसा के मामलों से जुड़ी याचिका पर सुनवाई करते हुए सख्त रुख अपनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि ऐसी घटनाओं को तुरंत रोका जाए।

इसके अलावा शीर्ष अदालत ने आदेश दिया कि प्रत्येक जिले में एक सीनियर पुलिस अधिकारी नियुक्त किया जाए जो गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा की घटनाओं पर रोक लगाए। कोर्ट ने कहा कि इस आदेश को 13 अक्टूबर से अमल में लाया जाए।

कोर्ट ने कहा, जो लोग गैरक्षा के नाम पर हिंसा में संलिप्त हैं, उनको कानून के शिकंजे में लाने की जरूरत है। पहलू खान की हत्या के मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने यह भी कहा कि ऐसे मामलों में पीड़ितों को मुआवजा दिए जाने की भी जरूरत है। सभी राज्यों की जिम्मेदारी है कि वे गौरक्षा के नाम पर हुई हिंसा के पीड़ितों को मुआवजा दें।

सुप्रीम कोर्ट ने आगाह करते हुए कहा, यह नोडल अधिकारी को सुनिश्चित करना होगा कि कथित गौरक्षक कानून को अपने हाथ में न लें।सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों से कहा कि वे राजमार्गों के किनारे सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाएं। जहां पर पशु ले जा रहे वाहनों को रोक कर कथित गौगुंडे लोगों पर आक्रमण करते हैं।

बताते चलें तीन साल पहले केंद्र में बीजेपी की सत्ता आने के बाद गौगुंडों ने स्वयंभू रूप से गाय सुरक्षा की जिम्मेदारी अपने हाथों मे ले ली है। वहीं बहुत से राज्यों में बीजेपी से जुड़े संगठनों के लोगों ने नियम बनाकर गोवध करने वालों को दंडित किया है।

कथित गौभक्तों ने गायों की सुरक्षा के नाम पर ज्यादातर पशु व्यापारी, मांस कारोबारी और यहां तक डेयरी फार्म में लगे किसानों को निशाना बनाया है। जिसके चलते बीजेपी शासित राज्यों में गौरक्षा के नाम पर बहुत से बेकसूर लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। आलोचकों का कहना है कि गौगुंडों ने गायों की सुरक्षा के नाम पर मुस्लिमों को निशाना बनाया है।

आपको बता दें हरियाणा के नूह में रहने वाले पहलू खान अपने बेटों के साथ जयपुर से गाय खरीद कर वापस आ रहे थे जहां राजस्थान में अलवर के पास कथित गौगुंडों ने उनके वाहन को रोक कर पहलू खान और उनके बेटों को निर्ममता से पीटा। घटना के दो दिन बाद पहलू खान की मौत हो गई थी।

PM के पहुंचने से पहले, छेड़खानी के विरोध में छात्राओं ने BHU गेट किया बंद, छात्रा ने मुंडवाया सिर

अपनों ने भी छोड़ा PM मोदी का साथ, हिंदू महासभा की धमकी, हम सरकार बनवा सकते हैं, तो गिरा भी सकते हैं

गोरखपुर: अपमानजनक सजा से आहत 5वीं के बच्चे ने सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या की

बाबा रे बाबा ! अब फलाहारी बाबा पर लॉ स्टूडेंट को जज बनवाने का झांसा देकर बलात्कार करने का आरोप

रेपिस्ट राम रहीम के समर्थक BJP सांसद का भगवा ज्ञान, प्रेमी जोड़ों को जेल में डाल दो, रुक जाएंगे रेप

तो क्या सिर्फ नवरात्रि में ही मीट की दुकान बंद करवाने से सारे हिन्दू शाकाहारी हो जाएंगे ?

 

Related posts

Share
Share