You are here

24 घंटे में गिरफ्तार ना हुए सूरज पटेल के हत्यारे तो आंदोलन के लिए तैयार रहें- विधायक आर के वर्मा

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

प्रतापगढ़ पट्टी कोतवाली थाना क्षेत्र के मुरारपुर गांव में रविवार सुबह दस बजे कोचिंग से लौट रहे छात्र सूरज पटेल को गांव के पास ही ईंट से कूचकर बेरहमी से मार डाला गया। 8वी का छात्र सूरज पटेल, अपना दल नेता नेता बांकेलाल पटेल का पुत्र था। बांकेलाल पटेल इलाके में ही रमईपुर दिशनी गांव में माध्यमिक विद्यालय चलाते हैं अपना दल विधि प्रकोष्ठ के कार्यकारिणी सदस्य भी हैं। घटना की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई और सरकार के रवैये से नाराज पूरे प्रदेश के कुर्मी समाज में आक्रोश फैल गया।

इसे भी पढ़ें-पेरियार की धरती पर ब्राह्मणवाद के ‘जनेऊ NEXUS’ के खिलाफ 7 अगस्त को सुअर का ‘जनेऊ संस्कार’

बीजेपी के सहयोगी अपना दल (एस) के विधायक की चेतावनी- 

अपना दल (एस) के प्रतापगढ़ की विश्वनाथगंज विधानसभा से विधायक आर के वर्मा ने भी कुर्मी समाज में सरकार के प्रति बढ़ते गुस्से को महसूस किया तो तुरंत अस्पताल पहुंचे और मृतक के पिता समेत परिजनों को हत्यारों की गिरफ्तारी करवाने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान चेतावनी भरे लहजे में डा. आरके.वर्मा ने कहा की जिस 8 वीं कक्षा के छात्र की निर्मम तरीके से हत्या की गयी है, इससे बड़ी दर्दनाक और दुख की बात और क्या हो सकती है ?

विधायक ने आगे कहा कि इस तरह अपराधियों के हौसले बुलंद है की दिन दहाड़े ही घटना को अंजाम दे रहे है। अगर अपराधियों की 24 घंटे में गिरफ्तारी नहीं हुई तो जनता आंदोलित हो जायेगी जिससे पुलिस को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। वहीं अपना दल कृष्णा पटेल गुट के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार पटेल ने  घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि प्रशासन आंदोलन के लिए तैयार रहे।

इसे भी पढ़ें-मृतक सुमित पटेल को इंसाफ और मुआवजे की मांग को लेकर सड़क पर उतरा कुर्मी स्वाभिमान महासंघ

क्या है पूरी घटना- 

रविवार सुबह बांकेलाल का इकलौता बेटा सूरज पटेल (14) कक्षा नौ की पढ़ाई के लिए अपने ही विद्यालय में कोचिंग के लिए गया था। वह करीब नौ बजे साथी छात्र के साथ पैदल घर लौट रहा था। थोड़ी देर बात ही दिन में करीब 10 बजे जंगल की ओर से साथी छात्र शोर मचाते हुए गांव में पहुंचा और बताया कि सूरज की कुछ युवकों ने ईंट- पत्थर से कूचकर हत्या कर दी है।गांव के लोगों के साथ ही परिजन मौके पर पहुंचे और घायल सूरज को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पट्टी पहुंच गए। डाक्टरों ने सूरज को मृत घोषित कर दिया।

शव को जबरन परिवार से छीन ले गई पुलिस- 

सीओ से शव को लेकर बांकेलाल पटेल की झड़प

इसे भी पढ़ें-जातिवाद- भ्रष्टाचार’ के गठजोड़ से बनी वकीलों की लिस्ट निरस्त करने के लिए OBC-SC वकीलों का प्रदर्शन

मृतक सूरज पटेल के शव को परिजन स्वास्थ्य केन्द्र से घर ले जाने लगे। इसी बीच पट्टी सीओ रमेशचंद्र ने बांकेलाल पटेल से शव अपने कब्जे में देने की बात कही। इस पर अपना दल नेता की सीओ और पुलिसकर्मियों से झड़प होने लगी, लेकिन पुलिस ने बर्दी का रौब दिखाते हुए शव को जबरन गाड़ी में डाला और पोस्टमार्टम के लिए ले गए। बांकेलाल ने सीओ को अपना परिचय भी दिया लेकिन पुलिस नहीं मानी और शव को जबरन उठा ले गई।

कुर्मी समाज में सरकार के प्रति पनप रहा है असंतोष- 

इलाहाबाद में ब्राह्मणों द्वारा अनुज पटेल की पीट पीटकर हत्या, फतेहपुर में फार्मासिस्ट दिलीप पटेल की गोली मारकर हत्या और झांसी में पीतांबर पटेल के साथ ठाकुर समाज के लागों द्वारा की गई मारपीट अभद्रता, प्रतापगढ़ में अपना दल की ब्लाक प्रमुख को धमकी, रायबरेली मेे हत्या के बााद पीड़ितों को ही जेल मेें ठूंस देने की घटना और अब प्रतापगढ़ में अपना दल नेता के बेटे की हत्या से कुर्मी समाज में सरकार के प्रति असंतोष बढ़ता जा रहा है.

इसे भी पढ़ें-सुमित पटेल को गोली मारने वाले सिंहों के बचाव में योगी पुलिस, 8 पीड़ित कुर्मियों को जेल में डाला

कुर्मी स्वाभिमान महासंघ, बुंदेलखंड कुर्मी क्षत्रिय कल्याण समिति, अखिल भारतीय कुर्मी क्षत्रिय महासभा जैसे संगठनों ने घटना पर रोष व्यक्त करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी है.

(प्रतापगढ़ से सूरज वर्मा की रिपोर्ट)

 

Related posts

Share
Share