You are here

लेखकों पर हमलों के विरोध में PM की काशी के बुद्धिजीवियों का फूटा गुस्सा, निकाला प्रतिरोध मार्च

नई दिल्ली/वाराणसी। नेशनल जनमत ब्यूरो  किसी लोकतंत्र की खूबसूरती का आंकलन उसमें विविधता के प्रसार के अवसर के आधार पर किया जाता है। असहमति के कारण किसी व्यक्ति की हत्या दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र पर सवाल खड़ा करती है। इसी विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए लेखकों, फिल्मकारों, छात्रों, पत्रकारों और तमाम बुद्धिजीवियों पर ‘प्रायोजित हमलों’ के विरोध में मंगलवार…

Read More
Share
Share