You are here

पढ़िए, RSS का असली ‘राष्ट्रवाद’ और घोर संघी स्वयंसेवक के सपनों का भारत कैसा होगा ?

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।  अपने लेखों के माध्यम से मानवाधिकार कार्यकर्ता हिमांशु कुमार देश के मौजूदा आभासी माहौल पर करारी चोट करके लोगों को इस भ्रमजाल से सचेत करते रहते हैं। उनके शब्दो की चोट इतनी गहरी होती है कि साप्रदायिक ताकतों को उनके शब्द वाण की तरह अंदर तक जख्म दे देते हैं। अपने हालिया लेख में उन्होंने…

Read More
Share
Share