You are here

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, बोले तेजस्वी से कभी नहीं मांगा गया इस्तीफा

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है. नीतीश जनता दल यूनाइटेड की बैठक के बाद राजभवन पहुंचे थे, जहां उन्होंने राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से मुलाकात करने के बाद अपना इस्तीफा सौंप दिया.

बता दें कि बिहार में महागठबंधन की सरकार है और इस महागठबंधन में कांग्रेस, जनता दल यूनाइटेड और राष्ट्रीय जनता दल शामिल हैं. सरकार में आरजेडी मुखिया लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव उप मुख्यमंत्री हैं. हाल ही में उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे, जिसके बाद से नीतीश नाराज चल रहे थे. हालांकि उन्होंने इस मामले पर खुलकर कुछ भी नहीं कहा.

मीडिया से बात करते हुए बोले नीतीश कुमारः

बिहार में 20 महीने चली महागठबंधन की सरकार

इस माहौल में नेतृत्व करना संभव नहीं था

जन कल्याण का काम करने की कोशिश की

हमने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा था

हमने सिर्फ आरोपों पर सफाई की बात कही

इस माहौल में काम करना संभव नहीं था

गठबंधन धर्म का पालन करने की पूरी कोशिश की

मैंने अपनी अन्तर्रात्मा की आवाज  सुनी है

आरजेडी की बैठक भी हुई- 

उधर आरजेडी की बुधवार को विधायक दल की बैठक हुई. इस बैठक के बाद लालू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार ने न तो तेजस्वी से इस्तीफा मांगा है और न ही कोई सफाई.

लालू यादव बोले तेजस्वी और नीतीश कुमार को जब किसी मसले पर जवाब देना होगा तो वो खुद मीडिया के सामने आएंगे. जहां जवाब देना होगा वहां हम लोग देंगे. लेकिन तेजस्वी किसी भी कीमत पर इस्तीफा नहीं देंगे.

लालू ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि वो नीतीश पर डोरे डालने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को लार नहीं टपकाना चाहिए.

लालू प्रसाद यादव ने ये भी कहा, “महागठबंधन की सरकार पांच साल चलेगी. दोनों पार्टियों के बीच कोई भी दरार नहीं है. गठबंधन में दरार की जो खबरें हैं वो सब मीडिया की फैलाई हुई हैं”

इस बीच तेजस्वी यादव ने भी बीजेपी पर हमला करते हुए कहा, ये बीजेपी और आरएसएस की साजिश है जो महागठबंधन को तोड़ना चाहते हैं. मुझे कभी भी इस्तीफा देने के लिए नहीं बोला गया है.

उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पहले ही कहा था कि हर राज्य में बीजेपी की सरकार बनेगी, इसलिए वो हर तरह से गठबंधन को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं.

28 जुलाई से बिहार में विधानसभा सत्र शुरू होने जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक, विधानसभा सत्र से पहले जेडीयू की तरफ से तेजस्वी के इस्तीफे की मांग की गई है.

 

Related posts

Share
Share