जिस ट्रंप की जीत के लिए हवन पूजन करते रहे भगवाधारी, उसी ट्रंप ने भारत को गंदा देश कहा

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के जीत की दुआओं के लिए देश के हिन्दूवादी और भगवाधारी संगठनों ने जंतर-मंतर से लेकर ना जाने कहां-कहां हवन पूजन कर डाले. इतना ही नही ट्रंप को मोदी का मित्र और भक्त तक कह डाला था. जिस ट्रंप की जीत पर हिन्दूवादियों ने ढोल नगाड़े बजाए थे आज उसी अमेरिका राष्ट्रपति ने भारत को प्रदूषण फैलाने वाला गंदा देश कहकर देश को अपमानित किया है.

ये भी पढ़िए- तेजस्वी यादव ने जी न्यूज को दी खुली चुनौती, हिम्मत है तो अंग्रेजी में डिबेट करा लो

केन्द्र में मोदी सरकार बनी है तबसे पीएम मोदी देशवासियों को ये बात बताने में जुटे हैं कि भारत ने विदेश नीति के मामले में बड़ी सफलता हासिल की है. विदेशों में भारत की विदेश नीति का डंका बज रहा है. पर अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा पेरिस में हुए जलवायु परिवर्तन सम्मेलन पर भारत की निंदा करते हुए मोदी की विदेश नीति की पोल खोल दी है.

ये भी पढ़िए- हरियाणा में गौ गुंडों ने पत्रकार समझकर छात्र के सीने में भोंक दिया चाकू, हालत गंभीर

अमरीका पेरिस जलवायु परिवर्तन शिखर वार्ता से हटा

अमरीका पेरिस में जलवायु परिवर्तन और कार्बन उत्सर्जन को लेकर चल रही शिखर वार्ता से ये कहकर हट गया कि इस सम्मेलन की शर्तें अमरीका के हितों के विपरीत हैं. उन्होंने कहा, ‘पेरिस समझौता एकतरफा अनुबंध है जिसमें अमेरिका अरबों डॉलर का भुगतान कर रहा है जबकि (प्रदूषण में) योगदान देने वाले चीन, रूस और भारत समझौते में कोई योगदान नहीं देंगे.’ जलवायु परिवर्तन को लेकर 2015 में संयुक्त राष्ट्र की पारंपरिक रूपरेखा के तहत 194 देशों ने समझौते पर हस्ताक्षर किए और 143 ने इसके प्रति दृढ़ता दिखाई थी. इस समझौते का मकसद दुनिया के बढ़ते औसत जलवायु तामपान को दो डिग्री तक नीचे लाना था.

इसे भी पढ़ें- तेजस्वी यादव ने जी न्यूज को दी खुली चुनौती, हिम्मत है तो अंग्रजी में डिबेट करा लो

विदेशों के चक्कर लगाने वाली विदेश नीति फेल-

पीएम मोदी के दौरों पर जब भी सवाल उठते थे.तब मोदी सरकार और पूरी भारतीय जनता पार्टी लोगों को ये बताने में जुट जाती थी कि पीएम मोदी के विदेश दौरों से भारत का विदेशों में कद बढ़ रहा है. दूसरी तरफ मोदी सरकार और भाजपा लोगों को ये बताने में नाकाम रही है कि यदि मोदी के विदेशों के दौरे करने से भारत का कद बढ़ रहा है तो फिर भारत में विदेशी निवेश कैसे घट गया. भारत की अर्थव्यवस्था में गिरावट कैसे आ रही है.

इसे भी पढ़ें- अगर आप जुल्म के खिलाफ हैं तो पढ़िए वीरांगना फूलन देवी निषाद पर लिखी ये कविता

भगवाधारियों के प्रिय ट्रंप ने भारत के लिए ये कहा-

ट्रम्प ने भारत की निंदा करते हुए भारत को प्रदूषण फैलाने वाला देश कहा है. ट्रम्प द्वारा भारत को गंदा और प्रदूषण फैलाने वाला देश कहने से अमरीका की भारत के बारे में सोच को दर्शा दिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पैरिस समझौते पर भारत समेत रूस और चीन जैसे बड़े देशों पर निशाना साधा है. रविवार को पेन्सिल्वेनिया में आयोजित रैली में उन्होंने कहा कि पैरिस समझौते के तहत अमेरिका खरबों डॉलर दे रहा है, जबकि रूस, अमेरिका और भारत जैसे प्रदूषण फैलाने वाले ‘कुछ नहीं’ दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- व्हाट्सअप पर चल रहे सरदार पटेल स्टूडेंट प्रोग्राम को बड़ी कामयाबी, 3 छात्र आईएएस बने

ट्रंप ने कहा कि समझौते को लेकर वह अगले दो हफ्तों में ‘बड़ा फैसला’ लेंगे. रैली में उन्होंने वैश्विक पर्यावरण को लेकर हुई इस क्लाइमेट डील को ‘एकतरफा’ बताया और कहा कि इसके तहत पैसों का भुगतान करने के लिए अमेरिका को ‘गलत तरीके’ से निशाना बनाया जा रहा है, जबकि प्रदूषण फैलाने वाले रूस, चीन और भारत जैसे बड़े देश कुछ भी योगदान नहीं दे रहे.

इसे भी पढ़ें- अच्छा तो शर्मा जी को गाय के ऑक्सीजन छोड़ने का गौज्ञान आज तक की मैडम से मिला है

ओबामा ने की ट्रंप के फैसले की निंदा

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते से अमेरिका को अलग करने के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले की निन्दा की है .उन्होंने एक बयान में ट्रंप की आलोचना करते हुए आगाह किया कि समझौते का पालन न कर अमेरिका आने वाली पीढ़ियों के भविष्य को खराब करेगा.

इसे भी पढ़ें- जब अमित शाह शोले फिल्म वाली बसंती की मौसी से वोट मांगने पहुचे

पीएम का अगले महीने अमरीका का दौरा हो सकता है रद्द-

पेरिस शिखर वार्ता में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा भारत की निंदा किए जाने से मोदी प्रशासन स्तब्ध है. अटकलें तो ये भी हैं कि अगले महीने होने वाला पीएम मोदी का अमरीका दौरा भी ट्रम्प की निंदा के बाद रद्द हो सकता है. हालांकि अधिकारी इस विषय पर अभी बोलने से बच रहे हैं.

37 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share