You are here

मोदी के मंत्री बोले-हम संविधान बदलने आए हैं, लोगों की पहचान धर्म और जाति के आधार पर होनी चाहिए

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

कहते हैं कि पार्टी के मुखिया जिस मानसिकता के होते हैं उनके कार्यकर्ता भी अपने आका को खुश करने के लिए जाने-अनजाने उसी मानसिकता को प्रदर्शित कर ही देते हैं।

सबका साथ सबका विकास का ढ़ोंग करने वाली मोदी सरकार के मंत्री की संविधान और देश की धर्मनिरपेक्षता पर की गई टिप्पणी इस बात की ओर इशारा करती है कि आखिर बीजेपी सरकार की वास्तविक सोच क्या है?

केंद्रीय कौशल विकास राज्‍यमंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने धर्मनिरपेक्षता पर विवादास्‍पद बयान दे दिया है। कर्नाटक में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि धर्मनिरपेक्ष और प्रगतिशील होने का दावा वे लोग करते हैं, जिन्‍हें अपने मां-बाप के खून का पता नहीं होता है।

केंद्रीय मंत्री ने लोगों को खुद की पहचान धर्मनिरपेक्ष के बजाय धर्म और जाति के आधार पर करने की वकालत की है। साथ ही कहा कि इस सोच के साथ संविधान में बदलाव भी किया जा सकता है इसीलिए हमलोग यहां हैं। कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री सिद्दरमैया ने उनके बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि अनंत हेगड़े पंचायत पद के काबिल भी नहीं हैं।

अनंत हेगड़े कोप्‍पल जिले के यलबुर्गा में ब्राह्मण युवा परिषद और महिलाओं के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा, ‘जो लोग धर्मनिरपेक्ष और प्रगतिशील होने का दावा करते हैं, उन्‍हें अपने मां-बाप और उनके खून के बारे में जानकारी ही नहीं होती है।

जाति और धर्म से स्वाभिमान आता है- 

हेगड़े बोले मुझे बहुत खुशी होगी यदि कोई व्‍यक्ति खुद की पहचान मुस्लिम, ईसाई, ब्राह्मण, लिंगायत या हिंदू के तौर पर करता है। इस तरह की पहचान से आत्‍मसम्‍मान हासिल होता है। समस्‍या तब उत्‍पन्‍न होती है जब कोई खुद को धर्मनिरपेक्ष कहता है।’

सीएम सिद्दरमैया ने कहा कि अनंत हेगड़े को संस्‍कृति और संसदीय भाषा का ज्ञान ही नहीं है।

प्रकाश राज ने जताई कड़ी प्रतिक्रिया- 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने वाले फिल्‍म अभिनेता प्रकाश राज ने केंद्रीय मंत्री को आड़े हाथ लिया है। उन्‍होंने ट्वीट किया, ‘अनंत हेगड़े आप एक निर्वाचित प्रतिनिधि हैं, ऐसे में आप किसी के मां-बाप पर टिप्‍पणी कर इतना नीचे कैसे गिर सकते हैं?

’ उन्‍होंने टि्वटर पर एक पत्र जारी कर कहा कि धर्मनिरपेक्ष होने का मतलब यह नहीं है कि किसी व्‍यक्ति को धर्म के आधार पर नहीं पहचाना जा सकता है। धर्मनिरपेक्षता का मतलब अन्‍य धर्मों को स्‍वीकार कर उसका सम्‍मान करना होता है।

और भी हैं आरोप- 

हेगड़े अपने गृह जिला सिरसी में दो जनवरी को एक निजी हॉस्पिटल में डॉक्टर पर हमला करने के आरोपी थे। हेगड़े अब भी इस मामले में मुख्य अभियुक्त हैं। पुलिस इस मामले में आरोपपत्र दायर कर चुकी है। स्थानीय अदालत में 21 अक्टूबर को इस मामले की सुनवायी होनी है।

PM के मित्र अडानी ने 1451.69 करोड़ का टैक्स भरे बिना ही अनिल अंबानी की रिलायंस एनर्जी को खरीदा !

‘गुर्जर संस्कृति शोध संस्थान’ के बैनर तले दहेज-उपहार लेन-देन को महिमामंडित ना करने का आह्वान

BJP सांसद सुब्रमण्‍यम स्‍वामी बोले, दबाव बनाकर GDP के आंकड़े बदलवाती है मोदी सरकार, फर्जी हैं सब

चारा घोटाला में जगन्नाथ मिश्रा बरी, लालू यादव दोषी, BJP सांसद शत्रुघ्न ने बताया ‘जनता का हीरो’

ब्राह्मणों को बताया भिखारी तो CM ने मांगा इस्तीफा, फिर कैबिनेट मंत्री को कर दिया बर्खास्त

 

Related posts

Share
Share