You are here

योगी बोले, राहुल गांधी को पूजा में बैठना भी नहीं आता, लोग बोले आपको पूजा-पाठ के अलावा क्या आता है?

नई दिल्ली, लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

गाय-गंगा. धर्म-अधर्म, मंदिर-मस्जिद, पाप-पुण्य, हिन्दु-मुस्लिम औऱ योगा के फेर में प्रदेश की जनता को फंसाकर राजनीतिक रोटी सेंकने वाली भारतीय जनता पार्टी के धार्मिक मुख्यमंत्री महंत आदित्यनाथ विकास-विकास चिल्लाते हुए अपने मूल एजेंडे पर लौट ही आते हैं।

विकास को जुमले की तरह प्रयोग करने वाले मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता को धर्म की चासनी में लिपटाए रखकर अपना हित साधना चाहती है। यही वजह कि विकास कार्यों की बजाए सीएम योगी की प्राथमिकता में मंदिर और धर्म है।

अपने एजेंडे को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने एक बार फिर धार्मिक मुद्दे को हवा देने की कोशिश की है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधने के बहाने उन्होंने फिर से धार्मिक राग छेड़ दिया है। योगी बोले राहुल गांधी को ये भी नहीं पता है कि पूजा में कैसे बैठते हैं?

इतना ही नहीं यूपी निकाय चुनाव के जरिए योगी ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नाम लिये बिना उन पर हमला बोला। योगी ने कहा कि हमारे विरोधी दल तो चुनाव से पहले ही हार मान चुके हैं इसीलिए जनसभाएं छोड़कर घर में बैठ ट्वीट कर रहे हैं।

बयान का गुजरात कनेक्शन- 

योगी ने कहा कि एक बार राहुल को काशी के पंडित ने टोकते हुए कहा था कि ठीक से बैठिये ये पूजा है कोई नमाज नहीं। सीएम योगी का ये बयान उस वक्त आया है जब राहुल गांधी गुजरात दौरों पर जमकर मंदिरों में पूजा अर्चना कर रहे हैं।

सीएम योगी ने राहुल गांधी के लिए ये बात लखनऊ में एबीपी न्यूज़ के एक कार्यक्रम में कहीं। सीएम का बयान आते ही सोशल मीडिया पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

सीएम साहब आपको पूजा के अलावा और क्या आता है?

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संगठन मंत्री तरुण पटेल ने पलटवार करते हुए सीएम योगी से पूछा कि मुख्यमंत्री जी पहले ये बताएं कि आपको पूजा-पाठ के अलावा आता ही क्या है?

तरुण ने कहा कि पंजाब की गुरदासपुर लोकसभा सीट और मध्यप्रदेश की चित्रकूट लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी की करारी हार हुई है। इसके अलावा गुजरात में कांग्रेस को मिल रहे समर्थन को देख कर भी भाजपा के माथे पर बल आ चुका है। इसलिए बीजेपी इस तरह के बयान पर आ गई है।

फेसबुक यूजर सत्येन्द्र यादव लिखते हैं कि आप तो एक मंदिर के महंत हैं आपने जीवन भर पूजा पाठ ही तो किया है। आपसे बेहतर पूजा करना किसे आता होगा, लेकिन योगी जी आप मठ में जाकर ही बैठिए आपके लिए वही उचित स्थान है, प्रदेश को धर्म के आगे में मत झोंकिए।

वरिष्ठ पत्रकार और इंडियन एक्सप्रेस के संपादक रहे शेखर गुप्ता ट्विट करते हैं कि देश के लिए ये शर्म का विषय है कि डॉ. अंबेडकर के दिए संविधान का मजाक उड़ाते हुए प्रदेश के सर्वोच्च पद पर बैठा कोई व्यक्ति इस तरह के बयान दे रहा है।

लोकतंत्र पर चाटुकार हावी, BJP अध्यक्ष बोले मोदीजी की तरफ उठने वाली उंगली तोड़ देंगे, हाथ काट देंगे

हाईकोर्ट ने CBSE से कहा, RTI आवेदक को केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की शिक्षा का रिकॉर्ड बताओ

पढ़िए, पश्चिमी देशों का विज्ञान जब वर्ण, जाति, गोत्र से भरे ‘महान’ भारत में घूमने आया तो क्या हुआ ?

डरी हुई BJP ने UP में पहली बार किसी CM को चुनाव प्रचार में उतारा है, अब PM का इंतजार है- नरेश उत्तम पटेल

कोई लड़ रहा है तो कोई मौन है, आओ देखते हैं क्रांतिकारी कौन हैं…सूरज कुमार बौद्ध की कविता

 

Related posts

Share
Share