You are here

भगवाराज: वंदे मातरम न गाने वाले ‘राष्ट्र विरोधी’, इनके वोट डालने के हक को छीन लिया जाए- शिव सेना

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

शिव सेना ने सोमवार को वंदे मातरम न गाने वालों पर कड़ी आपत्ति व्यक्त की है। शिव सेना ने कहा कि जो मुस्लिम वंदे मातरम नहीं गाते हैं वे राष्ट्र विरोधी हैं। जो लोग वंदे मातरम नहीं गाते हैं उनके साथ वही सलूक होना चाहिए जो एक देश द्रोही के साथ किया जाता है।

शिव सेना ने आगे कहा, “हम मानते हैं कि वंदे मातरम का विरोध या अपमान भी समान रूप से गंभीर अपराध है और जो भी इसमें शामिल हैं उन्हें ‘मताधिकार से वंचित किया’ जाना चाहिए। क्या आपके पास ऐसा करने की हिम्मत है?

शिव सेना ने हाल ही में औरंगाबाद में असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई वाली एआईएमआईएम के तीन पार्षदों-शेख समीना, सैयद मतीन व शेख जफर के वंदे मातरम गाए जाने के दौरान बैठे रहने की तीखी आलोचना की है।

शिवसेना ने आगे कहा, ये वही नेता हैं जो अपने समुदाय को झूठी मान्यताओं में डाल रहे हैं, और इस्लाम की हत्या कर रहे हैं। इनकी विकृत मानसिकता के चलते इस्लाम खतरे में हैं। शिव सेना के मुख पत्र सामना में कहा गया, ये सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है कि वंदे मातरम न गाने वालों के ख़िलाफ़ सरकार कठोर कदम उठाए।

शिवसेना ने इसकी एएमसी में शुरुआत की है। संपादकीय में कहा गया है, जब सरकार गौरक्षकों पर कड़ी कार्रवाई कर सकती है तो वंदे मातरम का विरोध करने वालों के ख़िलाफ़ भी उसे सख़्त कार्रवाई करनी चाहिए।

Related posts

Share
Share