बंदिशों के बाद भी बढ़ती महिला शक्ति को सलाम, इंडियन महिला क्रिकेट टीम ने वेस्टइंडीज को हराया

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

अपना बेहतरीन हरनफनमौला खेल जारी रखते हुए भारत ने महिला विश्व कप में गुरुवार को अपनी लगातार दूसरी जीत दर्ज की है। अपने दूसरे मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को सात विकेट से मात दी। भारत ने टॉस जीतकर गेंदाबजी चुनी और वेस्टइंडीज को निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट पर 183 रनों पर ही सीमित कर दिया। आसान से लक्ष्य को भारत ने स्मृति मंधाना (नाबाद 106) की शतकीय पारी की बदौलत 42.3 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया।

स्मृति ने 108 गेदों में 13 चौके और दो छक्कों की मदद से अहम शतकीय पारी खेली। स्मृति के अलावा कप्तान मिताली राज ने 46 रनों की पारी खेली। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 108 रनों की साझेदारी की। यह साझेदारी तब आई जब भारत ने 33 रनों पर ही अपने दो विकेट खो दिए थे।

महिला विश्व कप 2017: स्मृति मंधाना की शतकीय पारी ने टीम इंडिया को दिलाई 7 विकेट से दमदार जीत

आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम का खाता भी नहीं खुला था कि पूनम राउत पवेलियन लौट गई थीं। उनके बाद विंडीज की कप्तान स्टेफेनी टेलर ने दीप्ती शर्मा (16) को बोल्ड कर भारत को दूसरा झटका दिया। यहां से स्मृति ने कप्तान के साथ पारी को संभाला और टीम को जीत के करीब ले गईं। 141 के कुल स्कोर पर मिताली जब अर्धशतक से चार रन दूर थीं तभी हायेले मैथ्यूज ने उन्हें पवेलियन भेज दिया। इसके बाद स्मृति को मोना मेश्राम (नाबाद 18) का साथ मिला और दोनों ने मिलकर टीम को जीत दिला दी। मंधाना ने विजयी चौका मारा।

इससे पहले, विंडीज टीम भारतीय गेंदबाजों की कसी हुई गेंदबाजी के सामने खुलकर नहीं खेल पाई। एक समय लग रहा था कि विंडीज जल्द ही ऑल आउट हो जाएगी, लेकिन एफे फ्लैचर (नाबाद 36) और अनिसा मोहम्मद (नाबाद 11) ने टीम को 50 ओवरों से पहले ढेर होने से बचा लिया।

पूनम यादव की शानदार गेंदबाजी- 

भारतीय की ओर से पूनम यादव सबसे सफल गेंदबाज रहीं। उन्होंने 10 ओवरों में दो मेडेन के साथ 19 रन देकर दो विकेट हासिल किए। दीप्ती शर्मा ने 10 ओवरों में एक मेडेन के साथ 27 रन देकर दो विकेट लिए। हरमनप्रीत कौर को भी दो सफलताएं मिलीं। एकता बिष्ट ने भी किफायती गेंदबाजी की और 10 ओवरों में दो मेडेन सहित 23 रन देकर एक विकेट अपने खाते में डाला।

वेस्टइंडीज की सिर्फ पांच बल्लेबाज ही दहाई के अंक तक पहुंच सकीं। 69 के कुल स्कोर पर विंडीज ने अपने दो विकेट ही खोए थे। 29 के कुल स्कोर पर बिष्ट ने फेलिसिया वाल्टर्स (9) को पवेलियन भेजा तो 69 के कुल स्कोर पर दीप्ति शर्मा ने हेले मैथ्यूज (43) को अपनी ही गेंद पर लपक लिया।

यहां से भारतीय गेंदबाज वेस्टइंडीज टीम पर हावी हो गईं और 91 के स्कोर तक आते-आते उसने वेस्टइंडीज के छह बल्लेबाजों को पवेलियन लौटा दिया था। चेडेएन नाशेन (12) और शानले डेल (33) ने सातवें विकेट के लिए 30 रन जोड़ते हुए टीम को बचाने की कोशिश की, लेकिन हरमनप्रीत कौर ने नाशेन को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। डेल ने फिर फ्लैचर के साथ मिलकर टीम को 146 के स्कोर तक पहुंचा। इसी स्कोर पर दीप्ति ने उन्हें आउट कर विंडीज को आठवां झटका दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share