You are here

पटना नगर निगम चुनाव : ब्राह्मण-भूमिहारों का सफाया, यादव-कुर्मी-कोयरी समेत OBC का दबदबा

 पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो।

पटना नगर निगम की 75 पार्षद सीटों पर हुए चुनाव में ब्राह्मण-भूमिहार जाति का पूरी तरह सूपड़ा साफ हो गया. हालत ये है कि ब्राह्मण और भूमिहार जाति का एक भी नेता पार्षद का चुनाव नहीं जीत पाया. ये हाल तब है जब ये माना जाता है शहरी सीटों पर ब्राह्मणों या फिर अन्य सवर्ण जातियों का दबदबा होता है. पर नगर निगम चुनाव ने शहरी सीटों पर ब्राह्मण और भूमिहार जाति के वर्चस्व के मिथ को तोड़ दिया.

आजादी के बाद पहली बार ब्राह्मण-भूमिहार विहीन हुआ नगर निगम- 

आजादी के बाद ये पहला मौका है जब पटना नगर निगम में कोई भी ब्राह्मण या भूमिहार चुनाव नहीं जीत पाया है.आपको बता दें कि  पटना नगर निगम में कुल 75 पार्षद पद की सीटें  हैं.  इन सीटों पर एक भी ब्राह्मण और एक भी भूमिहार चुनकर नहीं आ सके हैं. अगड़ी जाति के कुल 13 उम्मीदवार जीते हैं जिसमें कायस्थों की बहुलता है. सात कायस्थ चुनकर आये हैं, चार पार्षद राजपूत समुदाय से हैं. वहीं दो मुस्लिम पार्षद भी अगड़ी जाति से हैं.

इसे भी पढ़ें-चर्चित हो गई यादव जी की सामाजिक न्याय वाली शादी, बारातियों में बंटी गुलामगीरी और संविधान

मेयर पद की चाबी भी पिछड़ो के पास

लेकिन निगम के मेयर पद की चाबी पिछड़े और अति पिछड़े पार्षदों के पास है. मेयर पद पर जीत के लिए कुल 38 मतों की दरकार है और जो सदस्यों का जो जातिगत गणित निकलकर सामने आ रहा है, उसके अनुसार यदि चार-पांच पिछड़े अति पिछड़ी जाति के पार्षद मिल गये तो मेयर पद पर उनका कब्जा हो जायेगा. अभी यादवों के पास सबसे ज्यादा 18 सीटें हैं., इसके बाद दूसरे नंबर पर कुरमी-कोयरी जाति के पार्षद हैं जिनकी कुल संख्या 09 है.

इसके बाद तेली-बनिया जाति के आठ पार्षद हैं और चंद्रवंशी-कहार इस सूची में सात पार्षदों के साथ चौथे पायदान पर हैं यानी यादव-कुरमी-बनिया-चंद्रवंशी मिल गये तो किसी और की जरूरत नहीं होगी. इनकी कुल संख्या 42 है. जबकि जीत के लिए 38 वोटों की आवश्यकता है. दलित-महादलितों की संख्या भी हो सकती है मददगार यदि चंद्रवंशी या बनिया इधर उधर खिसके तो उसका विकल्प धानुक और नाई जाति के पार्षद पूरा कर सकेंगे. उनकी संख्या तीन-तीन है. इन सबके बीच दलित महादलितों की संख्या भी अच्छी खासी है. आठ पार्षद इसी जाति-वर्ग से चुनकर आये हैं.

इसे भी पढ़ें- कृषि मंत्रालय की एआरएस परीक्षा में बड़ा खेल, ओबीसी की कट ऑफ जनरल से भी ज्यादा

ये हैं अगड़ी जाति के 13 प्रतिनिधि

वार्ड 49 सीमा वर्मा कायस्थ, सामान्य

वार्ड 12 सविता सिन्हा कायस्थ, सामान्य

वार्ड 34 कुमार संजीत  कायस्थ, सामान्य

वार्ड 37 संजीव आनंद कायस्थ

वार्ड 38 आशीष कु सिन्हा कायस्थ

वार्ड 43 प्रमिला वर्मा कायस्थ

वार्ड 44 माला सिन्हा कायस्थ

वार्ड 71 रेणु देवी राजपूत, सामान्य

वार्ड 25 रजनीकांत राजपूत, सामान्य

वार्ड 15 उर्मिला सिंह राजपूत, सामान्य

वार्ड 06 धनराज देवी राजपूत, सामान्य

वार्ड 40 असफर अहमद सैय्यद, सामान्य

वार्ड 52 महजबीं  सामान्य

इसे भी पढ़ें- चौकाने बाला सच MBBS.MD नहीं सिर्फ पीएचडी वाले ही डॉक्टर लिख सकते हैं

ये हैं पिछड़ेअति पिछड़ेयादव18

वार्ड 10 गीता देवी यादव, पिछड़ा

वार्ड 14 श्वेता राय यादव, पिछड़ा

वार्ड 16 जयप्रकाश सिंह यादव

वार्ड 20 सीमा सिंह यादव, पिछड़ा

वार्ड 22 अनीता देवी यादव, पिछड़ा

वार्ड 22-बी सुचित्रा सिंहयादव, पिछड़ा

वार्ड 22-सी रजनी देवीयादव, पिछड़ा

वार्ड 24 ज्ञानवती देवीयादव, पिछड़ा

वार्ड 26 बिंदा देवी यादव, पिछड़ा

वार्ड 28 विनय कुमार यादव, पिछड़ा

वार्ड 29 रंजीत कुमार यादव, पिछड़ा

वार्ड 32- पिंकी यादव यादव, पिछड़ा

वार्ड 39 भारती देवी यादव, पिछड़ा

वार्ड 42 कैलाश प्रसाद यादव यादव, पिछड़ा

वार्ड 55 कंचन कुमार यादव, पिछड़ा

वार्ड 65 तरुणा राय यादव, पिछड़ा

वार्ड 66 कांति देवी यादव, पिछड़ा

वार्ड 72 मीरा देवी यादव, पिछड़ा

इसे भी पढ़ें- ठाकुर संजीव ,सिंह ने शुभम पटेल को गोली मारी, गुस्साए ग्रामीणो ने घर पर बोला हमला

कुर्मी कोयरी – 5

वार्ड 56 किस्मती देवी कुर्मी, पिछड़ा

वार्ड 09 अभिषेक कुमार कुर्मी, पिछड़ा

वार्ड 23 प्रभा देवी कुरमी, पिछड़ा

वार्ड 41 कंचन देवी कुरमी, पिछड़ा

वार्ड 33- शीला देवी कुशवाहा, पिछड़ा

वार्ड 53 किरण मेहतो कुशवाहा, पिछड़ा

वार्ड 68 सुनीता देवी कुशवाहा, पिछड़ा

वार्ड 69 विकास कुमार कुशवाहा, पिछड़ा

वार्ड 57 स्मिता रानी कुशवाहा, पिछड़ा

इसे भी पढ़ें- प्रतिक्षा में रही गई शहीद की गली, निगम पार्षद चौबे जी ने बना डाली पांडे गली

तेली बनिया 08

वार्ड 47 सतीश कुमार तेली, अतिपिछड़ा

वार्ड 08 रीता रानी तेली, अतिपिछड़ा

वार्ड 17 मीरा कुमारी  तेली, अतिपिछड़ा

वार्ड: 58 सीता साहू तेली बनिया, पिछड़ा

वार्ड 67 मनोज कुमार जायसवाल बनिया, पिछड़ा

वार्ड 60 शोभा देवी  वैश्य बनिया, पिछड़ा

वार्ड 35 राजकुमार गुप्ता रौनियार बनिया, अतिपिछड़ा

वार्ड 02 मधु चौरसिया चौरसिया, अतिपिछड़ा

इसे भी पढ़ें- राबड़ी देवी की मीडिया को नसीहत मेरी बहू के बजाए किसान और गरीबों के मुद्दे पर ध्यान दो

चंद्रवंशी 07

वार्ड 59 नीलम कुमारी चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

वार्ड 36 दीपक कुमार चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

वार्ड 11 रवि प्रकाश चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

वार्ड 13 जीत कुमार चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

वार्ड 31 रानी सिन्हा चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

वार्ड 45 प्रभा देवी चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

वार्ड 48 इंद्रदीप कु चंद्रवंशी चंद्रवंशी, अतिपिछड़ा

धानुक 03

वार्ड 18 रंजन कुमार  धानुक, अतिपिछड़ा

वार्ड 21 पिंकी कुमारी धानुक, अतिपिछड़ा

वार्ड 30 कावेरी सिंह धानुक, अतिपिछड़ा

नाई 03

वार्ड 54 अरुण शर्मा नाई, अतिपिछड़ा

वार्ड 46 पूनम शर्मा नाई, अतिपिछड़ा

वार्ड 70 विनोद कुमार नाई, अतिपिछड़ा

इसे भी पढ़ें- जन्मजात श्रेष्ठता का दम तोड़ती है देश के सफल कोचिंग संस्थान के फाउंडर की सफलता की कहानी

अन्य पिछडेअति पिछड़े

वार्ड 03 प्रभा देवी दांगी, अतिपिछड़ा

वार्ड 05 दीपा रानी खान बढ़ई, अतिपिछड़ा

वार्ड 07 जयप्रकाश सहनी साहनी, अतिपिछड़ा

वार्ड 50 अारजू  अतिपिछड़ा

वार्ड 62 तारा देवी  पिछड़ा

वार्ड 64 अब्दा कुरैशी पिछड़ा

इसे भी पढ़ें- जानिए RSS की उपज शिवकुमार शर्मा को क्यों किसानों का मसीहा बनाने पर तुली है मीडिया

अनुसूचित जाति: 08 

वार्ड एक छठिया देवी मुसहर

वार्ड चार पानपति देवी पासवान

वार्ड 61 उषा देवी चौधरी पासी

वार्ड 63 आनंद मोहन कुमार दलित

वार्ड 22-ए दिनेश कुमार पासी चौधरी

वार्ड 51 विनोद कुमार चर्मकार, दलित

वार्ड 25 रानी कुमारी पासवान, दलित

वार्ड 19 शारदा देवी चर्मकार, दलित

Related posts

Share
Share