You are here

BJP के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा बोले, भारत को गरीब बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं अरुण जेटली

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में देश के वित्त मंत्री रहे, बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर करारा हमला बोला है, उन्होंने अरुण जेटली को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वित्तमंत्री ने अर्थव्यवस्था का कबाड़ा कर दिया है।

केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए पूर्व वित्त मंत्री ने नोटबंदी को सुस्त अर्थव्यवस्था की आग में घी डालने वाला बताया और उन्होंने जीएसटी की खामियां भी गिनाईं।

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने अर्थव्यवस्था की तस्वीर पेश करते हुए अंग्रेजी अखबार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ में एक लेख लिखा है। इस लेख में उन्होंने कहा कि सरकार ने 2015 में जीडीपी की गणना करने के तरीके में बदलाव किया था, इस तरीके से गणना करने पर जीडीपी रेट में 2 प्रतिशत का अंतर आता है।

उन्होंने अपने लेख में कहा, “मैं अपने राष्‍ट्रीय कर्तव्य के पालन करने में असफल होऊंगा, अगर मैंने अब वित्‍त मंत्री द्वारा अर्थव्यवस्‍था की दुर्गति के बारे में नहीं बोला। मैं निश्चिंत हूं कि मैं जो भी कहने जा रहा हूं वह बड़ी संख्‍या में भाजपा के लोगों की भावनाएं हैं, जो डर की वजह से बोल नहीं रहे।

उन्होंने लिखा, “वर्तमान में हमारी जीडीपी ग्रोथ रेट 5.7 प्रतिशत है जबकि पुराने तरीके की गणना के अनुसार यह केवल 3.7 प्रतिशत या उससे भी कम है।”

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिंन्हा अरुण जेटली को चार मंत्रालय दिए जाने के खिलाफ हैं उन चार मंत्रालयों में से तीन मंत्रालय अभी भी जेटली के पास हैं। उनका कहना है मैंने वित्‍त मंत्रालय संभाला है और मैं जानता हूं कि अकेले उसी मंत्रालय में कितना काम होता है।

उन्होंने आगे कहा, इस मंत्रालय को अपने प्रमुख के ध्यान की पूरी जरूरत होती है। कठिन समय में यह नौकरी 24 घंटे की हो जाती है। वित्त मंत्री पर शब्द वाण चलाते हुए उन्होंने कहा, ऐसी स्थिति में जेटली जैसा सुपरमैन भी काम के साथ न्‍याय नहीं कर सकता।

अरुण जेटली पर वार करते यशवंत सिन्हा ने लेख में कहा, अर्थव्यवस्था को बनाना जितना मुश्किल है उसे बिगाड़ना उतना ही आसान है। उन्होंने लिखा, “पीएम दावा करते हैं कि उन्होंने गरीबी को करीब से देखा है। उनके वित्त मंत्री पूरे देश को गरीबी दिखाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।”

सिन्‍हा ने अपने लेख में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के सामने आई चुनौतियों का जिक्र करते हुए लिखा है, ”प्रधानमंत्री चिंतित हैं। प्रधानमंत्री द्वारा वित्‍त मंत्री और उनके अधिकारियों की बुलाई गई बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्‍थगित कर दी गई है।

आपको बता दें कि यशवंत सिन्हा अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त मंत्री थे. उनके काल में ही इंडिया मिलेनियम बॉन्ड्स जैसी सफल योजना शुरू हुई थी। पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की लगातार आलोचना करते रहे हैं।

चीफ जस्टिस बनने से रोकने के लिए जयंत पटेल का कोलेजियम ने किया ट्रांसफर, तो थमा दिया इस्तीफा

बेतुका बयान देने वाले चीफ प्रॉक्टर ओएन सिंह हटाए गए, VC बोले छुट्टी जाने से अच्छा है इस्तीफा दे दूं

कुलपति त्रिपाठी का एक और कारनामा, यौन उत्पीड़न के ‘दोषी’ को बना दिया विश्वविद्यालय अस्पताल का हेड

UP में असुरक्षित बेटियां: अब UGC ने भी माना छेड़छाड़ की घटनाओं में UP के विश्वविद्यालय अव्वल

पाटीदारों और गुजरात की देन हैं सरदार पटेल’ जिन्होंने देश को संगठित कर आगे बढ़ाया- राहुल गांधी

अच्छे दिनः यूपी में प्राइमरी अध्यापक बनने की राह और भी कठिन, TET के बाद भी लिखित परीक्षा अनिवार्य

कमिश्वर की जांच में खुलासा, VC त्रिपाठी के गलत रवैये से भड़का छात्राओं का गुस्सा, दिल्ली तलब

 

Related posts

Share
Share