You are here

योगी के रामराज में जातिवाद का जहर, कूड़े का टोकरा छू जाने पर गर्भवती दलित महिला की हत्या

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

सीएम आदित्यनाथ भले ही मोदीराज और खुद के धार्मिक राज की तुलना रामराज से करें लेकिन हकीकत ये है कि जातिवाद का जहर समाज की रगों से  निकलने का नाम नहीं ले रहा। घटिया मानसिकता से घिरे जातिवादी समाज की सभ्यता की पोल खोलता ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले का है।

बुलंदशहर स्थित खेतलपुर भंसोली गांव में कूड़े का टोकरा छू भर जाने से ठाकुर बिरादरी की महिला व उसके बेटे ने दलित गर्भवती की जमकर पिटाई कर दी। गंभीर रूप से घायल महिला को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पहले उसकी कोख में पल रहे गर्भ की मौत हुई बाद में महिला की भी मौत हो गई।

महिला के पति का आरोप- 

खेतलपुर भंसोली गांव निवासी दिलीप द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे के अनुसार उसकी गर्भवती पत्नी सावित्री 20 अक्टूबर की शाम कूड़ा डालने जा रही थी। इसी बीच गांव की ठाकुर बिरादरी की एक महिला अंजू देवी अपने बेटे रोहित के साथ कहीं जा रही थी। इसी दौरान कूड़े का टोकरा मां-बेटे से छू गया।

इसी बात को लेकर उन दोनों ने सावित्री की जमकर पिटाई कर दी थी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। बाद में अस्पताल में उसकी मौत हो गई। देहात कोतवाली पुलिस ने आरोपी अंजू व उसके बेटे रोहित के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, एससीएसटी व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

कोतवाल तपेश्वर सागर ने बताया कि महिला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण सिर में चोट लगना बताया गया है। पुलिस ने हत्या के प्रयास में दर्ज की गई रिपोर्ट को गर्भवती के साथ मारपीट व गैर इरादतन हत्या में बदलकर जांच शुरू कर दी है. वहीं, आरोपी मां-बेटे ने कोर्ट में सरेंडर के लिए अर्जी भी लगाई है.

एसपी सिटी प्रवीण रंजन का कहना है कि दलित महिला की पिटाई का मामला दर्ज कर लिया गया है और एडिशनल एसपी स्तर के अधिकारी द्वारा मामले की जांच की जाएगी.

दलितों को कोई दिक़्क़त नहीं है बहनजी के बौद्ध धर्म स्वीकार करने पर। एक बाबासाहेब थे जिन्होंने एक ही बार ऐलान करने के बाद लाखों लोगों के साथ बौद्ध धर्म अंगीकार किया था।

पिता ने जमीन बेचकर पढ़ाया, अब IT कंपनी बनाकर युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बने प्रशांत पटेल

हिन्दु धर्म छोड़ने की धमकी देते हुए मायावती बोलीं, CM को मंदिरों से फुर्सत मिले तब तो विकास करेंगे

फिल्म में GST-नोटबंदी पर सवाल उठाने से हो गईं BJP की भावनाएं आहत, अभिनेता पर दर्ज कराया केस

अब तक के सबसे ‘भाषणवीर’ PM साबित हुए नरेन्द्र मोदी, 3 साल में दिए 30 मिनट से ज्यादा के 775 भाषण

गुजरात में बदलते मूड के संकेत: अब महिला कार्यकर्ता ने रोड शो के दौरान PM मोदी पर फेंकी चूड़ियां

देशभक्ति साबित करने के लिए सिनेमाघरों में राष्ट्रगान पर खड़ा होना ज़रूरी नहीं- सुप्रीम कोर्ट

 

 

Related posts

Share
Share