You are here

योगी का रामराज: BRD हॉस्पिटल में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी, 3 दिनों में 61 बच्चों ने तोड़ा दम

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। हॉस्पिटल के बाल रोग विभाग में पिछले तीन दिनों में 61 बच्चे मौत के मुंह में समा गए। इनमें से 42 बच्चों की मौत पिछले 48 घंटों में होने खबर है।

बीआरडी हॉस्पिटल के अधिकारियों के अनुसार, बीते 27, 28 और 29 अगस्त को यहां पर 61 बच्चों की मौत हुई। उन्होंने कहा, इंसेफलाइटिस विभाग में 11 बच्चे, नवजात गहन चिकित्सा कक्ष में 25 वहीं शिशु चिकित्सा वार्ड में 25 बच्चों की मौत हुई है। ये बच्चे इंसेफलाइटिस सहित कई अन्य रोगों से पीड़ित थे।

अस्पताल में हुई इस दर्दनाक घटना पर स्थानीय डॉक्टर्स का कहना है कि गोरखपुर और उसके आसपास इलाकों में हुई भारी बारिश के चलते क्षेत्र में इंसेफलाइटिस का प्रकोप बढ़ सकता है।

पहले भी हुई थी 60 से अधिक मौत- 

बीआरडी मेडिकल हॉस्पिटल में हाल ही में 60 से अधिक बच्चों की मौत हो गई थी। 10 अगस्त को अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई रोक दिए जाने से दर्जनों बच्चों की मौत हो गई थी। इतने बड़ी संख्या में हुई बच्चों की मौत पर राज्य सरकार की पूरे देश में आलोचना हुई थी। वहीं अस्पताल की बुनियादी सुविधाओं पर लोगों ने सवालिया निशान उठाए थे।

इस मामले पर उत्तर प्रदेश के डीजी केके गुप्ता ने एफआईआर दर्ज कराई थी। जिसके बाद मेडिकल कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल डॉक्टर राजीव मिश्रा, उनकी पत्नी डॉ. पूर्णिमा शुक्ला, डॉ. कफील खान, डॉ. सतीश सहित 9 लोगों पर 7 धाराओं सहित मामला दर्ज किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट से अनुसार, उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने बीआरडी के पूर्व प्रिंसिपल राजीव मिश्रा और उनकी पत्नी पूर्णिमा शुक्ला को कानपुर से गिरफ्तार कर लिया गया है। बीते दिनों बीआरडी में मौत के बाद ये दोनों फरार थे।

Related posts

Share
Share