You are here

योगीराज में कानून-व्यवस्था पूरी तरह चौपट, अब डीआईजी के लड़के की गोली मारकर हत्या

इलाहाबाद, नेशनल जनमत ब्यूरो।

जबसे यूपी में योगी की अगुवाई में भाजपा की सरकार बनी हैं तबसे सूबे में हत्या, डकैती, बलात्कार, छिनैती, गुंडई का बोलबाला हो गया है.

चारों तरफ अपराध की खबरें अखबारों की हेडलाइनें बन रही हैं. अब इलाहाबाद में पूर्व डीआईजी स्वर्गीय त्रिलोचन सिंह के बेटे धीरज सिंह की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें- अच्छा तो शर्मा जी को गाय के ऑक्सीजन छोड़ने का गौज्ञान आज तक की मैडम से मिला है

आपको बता दें कि धीरज मूलरुप से प्रतापगढ़ जिले के राजगढ़ के रहने वाले स्वर्गीय त्रिलोचन सिंह के तीन बेटों में सबसे छोटा बेटा था. धीरज सिंह की पांच साल पहले निधि उर्फ अन्नू के साथ शादी हुई थी. वह पत्नी के साथ अल्लापुर के बाघम्बरी मे रहते थे.

उनके एक भाई का सिविल लाइंस में रेस्टोरेंट हैं जबकि दूसरे भाई सुल्तानपुर के रजिस्ट्री आफिस में काम करते हैं. वह गुरुवार रात पत्नी के साथ कार से घर लौट रहे थे. रास्ते में एजी आफिस सामने एवं पुलिस मुख्यालय के बराबर हरीश ढाबे से धीरज ने खाना पैक कराया.

इसे भी पढ़ें- व्हाट्स पर चल रहे सरदार पटेल स्टूडेंट सपोर्ट प्रोग्राम को बड़ी कामयाबी तीन छात्र बने आईएएस

जैसे ही वह कार के पास पहुंचे कि हत्यारों में से एक ने उनके नजदीक पहुंचकर सीने से सटाकर गोली चला दी. गोली लगते ही वह लहूलुहान होकर गिर गए. गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के लोग घटना स्थल की ओर दौड़े तो एक हमलावर पैदल ही राजापुर की ओर भाग निकला. दूसरे शूटर भी मौके से फरार हो गया.

इसे भी पढ़ें- इतना मर डराओ योगी जी कि मरे हुए पीसीएस का ही ट्रांसफर कर दे प्रशासन

निधि ने खून से लथपथ धीरज को ई रिक्शा पर लादा और एक निजी अस्पताल ले गई. यह खबर जब रिश्तेदारों को दी गई तो वह भी आ गए. यहां धीरज को लेकर परिजन संतुष्ट नहीं हुए तो रिश्तेदार अपनी कार से एसआरएन ले गए. यहां पर भी चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया.

थाना प्रभारी मनोज तिवारी के अनुसार हत्या के कारण के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता. जांच की जा रही है.

इसे भी पढ़ें- जानिए मोरनी को आंसू से गर्भवती करने वाले शर्मा जी कैसे बन गए हाईकोर्ट में जज

Related posts

Share
Share