You are here

योगीसेना की गुंडई: रेप के आरोपी हिन्दु युवा वाहिनी के लोगों का थाने में तांडव दरोगा की वर्दी फाड़ी

नई दिल्ली/बरेली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

योगी आदित्यनाथ के संरक्षण में चल रहे संगठन हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं की गुंडई खत्म होने का नाम नहीं ले रही. बरेली में एक लड़की को जिंदा जलाने का मामले में दो हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं के गिरफ्तार होने के बाद अब बरेली में ही थाने में वाहिनी पदाधिकारियों और बीजेपी पदाधिकारियों के बीच मारपीट का मामला सामने आया है.

दऱअसल हिन्यू युवा वाहिनी के 4 कार्यकर्ताओं पर गैंग रेप का मामला दर्ज किया गया. समर्थन में थाने में पहुंचे वाहिनी पदाधिकारियों और बीजेपी नेताओं ने थाने में जमकर हंगामा काटा और एक दरोगा की वर्दी भी फाड़ दी.

इसे भी पढ़ें-सीएम योगी की हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं की दरिंदगी घर में घुसकर लड़की को जिंदा जलाया

बीजेपी और वाहिनी कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट- 

उत्तर प्रदेश के बरेली शहर के गणेशनगर में दो पक्षों में विवाद के बाद हिन्दू युवा वाहिनी के चार कार्यकर्ताओं के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गयाा. झगड़े को लेकर पैरवी करने पहुंचे भाजपा और हिंदु युवा वाहिनी के नेताओं के बीच थाने में ही मारपीट हुई और एक दारोगा की वर्दी फाड़ दी गयी।

पूरा मामला ये है- 

पुलिस उपाधीक्षक नगर रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि गणेशनगर निवासी दीपक नामक युवक कल अपने घर में तेज आवाज में संगीत बजा रहा था। दूसरे पक्ष के अविनाश ने अपनी मां के बीमार होने का हवाला देते दीपक से आपत्ति दर्ज करायी। इसे लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई। झगड़े के बाद दीपक ने संगीत बंद कर दिया।

इसे भी पढ़ें- दलित आक्रोश से घबराया संघ जुटा वोट मैनेजमैंट में, गुजरात चुनाव से पहले निकालेगा दलित रथयात्रा

आरोप है कि देर शाम अविनाश हिन्दू युवा वाहिनी के अपने दो साथियों के साथ दीपक के घर में घुसा और उसकी गैर मौजूदगी में महिलाओं से बदसलूकी की। महिलाओं ने दीपक को सूचना दी तो वह भाई गौरव के साथ घर पहुंचा मगर तब तक आरोपी जा चुके थे।

दूसरे पक्ष की पैरवी के लिए बीजेपी नेता पहुंचे- 

सजवाण ने बताया कि दीपक और गौरव ने बाद में अविनाश को पकड़ लिया और पिटाई करने के बाद पुलिस को सौंप दिया। इंस्पेक्टर मुकेश कुमार जब अविनाश को लेकर थाने पहुंचे तभी हिन्दू युवा वाहिनी के मण्डल अध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा और महानगर अध्यक्ष पंकज पाठक समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता थाने पहुंच गए।

उन्होंने बताया कि वाहिनी कार्यकर्ताओं ने अविनाश की गिरफ्तारी पर हंगामा किया। इसी बीच, दूसरे पक्ष की पैरवी करने के लिये भाजपा के महानगर अध्यक्ष उमेश कठेरिया थाने पहुंचे। इस पर वाहिनी के नेताओं ने उनसे कथित रूप से अभद्रता की। इसके बाद दोनों पार्टियों के नेताओं में विवाद बढ़ गया और पुलिस अफसरों की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई।

इसे भी पढ़ें- फकीर पीएम झारखंड दौर पर खा गए 44 लाख का खाना, 75 मिनट के दौरे पर 9 करोड़ रुपये खर्च

वाहिनी कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर भी हमला किया। सुभाषनगर चौकी प्रभारी मयंक अरोड़ा ने अपनी वर्दी फाड़े जाने का आरोप लगाया है।उन्होंने बताया कि दारोगा की तहरीर पर हिंदु युवा वाहिनी के मण्डल अध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा, महानगर अध्यक्ष पंकज पाठक और अविनाश उर्फ अंशू के खिलाफ मारपीट का तथा एक महिला की तहरीर पर इन तीनों तथा अनिल सक्सेना नामक एक अन्य वाहिनी कार्यकर्ता के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है।

इसे भी पढ़ें- 25 सवाल जिनको सुनते ही आरएसएस को सांप सूंघ जाता है. पढ़िए संघ क्यों घबराते हैं इन सवालों से

जितेन्द्र, पंकज और अविनाश को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। गणेशनगर इलाके में एहतियातन पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

Related posts

Share
Share